ताज़ा खबर
 

असम के BJP नेता के बेटे का किडनैप, रिहाई के बदले उग्रवादी संगठन ULFA ने मांगी एक करोड़ की फिरौती

असम में बीजेपी की सरकार बनने के बाद अपहरण का यह पहला मामला बताया जा रहा है। रिहाई के मांगी 1 करोड़ की फिरौती।

Author नई दिल्ली | August 22, 2016 7:06 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (फाइल फोटो)

असम में उग्रवाद एक बार फिर से सिर उठा रहा है। बीते दिनों असम के कोकराझार मं उग्रवादी हमले के बाद अब उग्रवादियों ने बीजेपी के एक नेता के बेटे का अपहरण कर लिया है। जानकारी के मुताबिक बीजेपी नेता रत्नेश्वर मोरान के बेटे को उल्फा (यूनाइटेड लिब्रेशन फ्रंट ऑफ असम) द्वारा किडनैप करने की बात सामने आ रही है। लड़को को छोड़ने के एवज में उग्रवादी संगठन ने एक करोड़ की फिरौती मांगी है। असम में बीजेपी की सरकार बनने के बाद अपहरण का यह पहला मामला बताया जा रहा है।

इंडिया टुडे के मुताबिक सोमवार को वीडियो फुटेज सामने आने के बाद घटना का खुलासा हुआ है। वीडिया उल्फा ने एंटी-टॉक फैक्शन की ओर से जारी किया गया। वीडियो में दिखाया गया है कि बीजेपी नेता और तिनसुकिया जिला परिषद के उपाध्यक्ष रत्नेश्वर मोरान का बेटा कुलदीप मोरान उल्फा उग्रवादियों से घिरा हुआ है। बीजेपी नेता के बेटे को अरुणाचल प्रदेश के नामपॉन्ग से किडनैप किया गया है। बीजेपी विधायक बोलिन चेतिया को भेजे गए वीडियो संदेश में कहा गया है कि भतीजे की जान के बदले में 1 करोड़ रुपए की रकम तैयार रखो। कुलदीप अपने चाचा बोलिन चेतिया के साथ काम करता था और उनके काफी करीब था।

वीडियो में कुलदीप उग्रवादियों से छोड़ने की अपील कर रहा है और अपने परिवार और असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से इस मामले को गंभीरता से लेने के लिए कहा है। असम पुलिस ने कुलदीप की खोज में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। विधायक ने कहा कि वह अपने भतीजे और उसके साथियों को उल्फा के चुंगल से छुड़ाने के लिए कुछ भी करेंगे।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App