ताज़ा खबर
 

आसाराम रेप केसः CBI जांच की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मांगा केंद्र से जवाब

उच्चतम न्यायालय ने आसाराम बापू बलात्कार मामलों में दस गवाहों पर हमलों और कथित रूप से काला जादू के जरिए बच्चों की हत्या की सीबीआई जांच की मांग करने वाली याचिका पर आज केंद्र और पांच राज्यों से जवाब मांगा।
Author नई दिल्ली | November 18, 2016 22:24 pm

उच्चतम न्यायालय ने आसाराम बापू बलात्कार मामलों में दस गवाहों पर हमलों और कथित रूप से काला जादू के जरिए बच्चों की हत्या की सीबीआई जांच की मांग करने वाली याचिका पर आज केंद्र और पांच राज्यों से जवाब मांगा। न्यायाधीश ए के सिकरी और ए एम सप्रे की पीठ ने केंद्र , हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश , गुजरात और मध्य प्रदेश की सरकारों को नोटिस जारी करने के साथ ही कहा कि यह सही समय है कि गवाहों की सुरक्षा की जरूरत के मुद्दे को देखा जाए।

इस याचिकाकर्ता को दाखिल करने वालों में आसाराम की संलिप्तता वाले बलात्कार के एक मामले में गवाह महिंदर चावला, मारे गए एक गवाह के पिता नरेश गुप्ता , बलात्कार पीड़ित एक बच्ची के पिता कर्मवीर सिंह और हत्या के प्रयास से कथित रूप से बच निकलने वाले पत्रकार नरेन्द्र यादव शामिल हैं । इन सब ने इन मामलों मेंं सीबीआई जांच की मांग करते हुए अपील दाखिल की थी।

याचिका में कहा गया है , ‘‘ एक बहुत खतरनाक परिदृश्य उभर रहा है जो हमारे संवैधानिक अधिकारों और स्वतंत्रता पर हमला कर रहा है जहां धनी और ताकतवर आरोपी खुलेआम कानून का उल्लंघन कर रहे हैं और गवाहों की हत्या, हमले तथा उन्हें डरा धमका कर न्याय को प्रदूषित कर रहे हैं ।’ इसमें आगे कहा गया है, ‘हाल ही में आसाराम बापू और नारायण साई बलात्कार मामलों के कई गवाह मारे गए , उन पर हमले हुए या वे रहस्यमय परिस्थितियों में लापता हो गए ।’

याचिका अधिवक्ता उत्सव सिंह बैंस के माध्यम से दाखिल की गयी है जिसमें कहा गया है कि ‘‘मध्य प्रदेश के झाबुआ में नारायण साई और आसाराम द्वारा काले जादू के जरिए एक बालक की हत्या, गुजरात के मोटेरा आश्रम में दो बच्चों की रहस्यमयी मौत और मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में दो और बच्चों की मौत तथा गवाहों पर हमलों के मामले में सीबीआई जांच की जरूरत है । ’’
….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.