ताज़ा खबर
 

Article 370: रजनीकांत ने मोदी-शाह की जोड़ी को बताया कृष्ण और अर्जुन, ओवैसी बोले- एक और ‘महाभारत’ चाहते हैं क्या

ओवैसी ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उनको कश्मीरियों की जमीन से प्यार है, उनसे नहीं है। साथ ही उन्होंने पूछा कि क्या सरकार देश में एक और महाभारत कराना चाहती है।

असदुद्दीन औवेसी और रजनीकांत (फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस )

Jammu kashmir Article 370: एआईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कश्मीर और आर्टिकल 370 के बहाने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। साथ ही उन्होंने साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत के उस बयान पर भी चुटकी ली, जिसमें उन्होंने अमित शाह और नरेंद्र मोदी को कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी बताया था। ओवैसी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “तमिलनाडु के एक अभिनेता (रजनीकांत) ने पीएम मोदी और अमित शाह को जम्मू-कश्मीर से धारा 370 निरस्त करने के लिए कृष्ण और अर्जुन कहा। फिर इस स्थिति में पांडव और कौरव कौन हैं? क्या आप देश में एक और ‘महाभारत’ चाहते हैं?” इस दौरान ओवैसी ने यह भी कहा कि सरकार को कश्मीरियों से नहीं बल्कि कश्मीर की जमीन से प्यार है।

क्या बोले ओवैसी: अपनी पार्टी के मुख्यालय में ईद मिलन के मौके पर एक रैली को संबोधित करते हुए असदुद्दीन औवेसी ने कहा- मैं जानता हूं कि इस सरकार को कश्मीर से प्यार है, लेकिन कश्मीरियों से नहीं। मुझे पता है कि इनको जमीन से प्यार है लेकिन जो लोग वहां रहते हैं उनके लिए कोई प्यार नहीं है। ये सत्ता से प्यार करते हैं लेकिन न्याय नहीं देते। वे केवल सत्ता बरकरार रखना चाहते हैं। लेकिन मैं याद दिलाता रहूंगा कि कोई भी व्यक्ति अनंत काल तक जीवित नहीं रहता है।

National Hindi News 14 August 2019 LIVE Updates दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

रजनीकांत पर कसा तंज: ओवैसी ने अभिनेता रजनीकांत को पीएम मोदी और अमित शाह को ‘कृष्ण और अर्जुन’ कहने पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि रजनीकांत बताएं कि फिर इस स्थिति में पांडव और कौरव कौन हैं। साथ ही यह भी कहा की क्या आप देश में एक और ‘महाभारत’ चाहते हैं।

Next Stories
1 Hyderabad: महिलाओं- लड़कियों की रक्षा के लिए शुरू होगी ‘जटायु सेना’, बालाजी मंदिर की अनोखी पहल
2 ब्रिटिश हुकूमत का साथ दे रहा था RSS, भारत छोड़ो आंदोलन का भी किया था विरोध: दिग्विजय सिंह
3 Jammu-Kashmir: अपनों से फोन बात करने के लिए सरकारी दफ्तरों के बाहर लगी लंबी कतारें, घंटों इंतजार के बाद 2 मिनट की कॉल
ये पढ़ा क्या?
X