ताज़ा खबर
 

Madhya Pradesh: जब दुल्हन ने एंबुलेंस में पढ़ा निकाह, दूल्हे ने फोन पर तय की मेहर की रकम

राजस्थान के बापचा में रहने वाली युवती सामूहिक निकाह समारोह के लिए गुना आ रही थी। रास्ते में अचानक युवती की तबीयत खराब हो गई, जिसके चलते उसका निकाह एंबुलेंस में ही पढ़वाया गया।

प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

मध्य प्रदेश के गुना से करीब 45 किलोमीटर दूर एक ऐसा निकाह हुआ, जिसकी चर्चा पूरे शहर में है। दरअसल राजस्थान के बापचा में रहने वाली युवती सामूहिक निकाह समारोह के लिए गुना आ रही थी। रास्ते में अचानक युवती की तबीयत खराब हो गई, जिसके चलते उसका निकाह एंबुलेंस में ही पढ़वाया गया। वहीं, दूल्हे ने मेहर की रकम भी फोन पर ही तय कर दी।

अचानक खराब हो गई दुल्हन की तबीयत : मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, छबड़ा की रहनेवाली शफीना बानो का निकाह विदिशा के रईस खान के साथ होना था। इसके लिए शफीना को गुना में हो रहे सामूहिक निकाह समारोह में शामिल होना था, लेकिन रास्ते में ही उनकी तबीयत खराब हो गई। शफीना की तबीयत इतनी ज्यादा बिगड़ गई कि परिजन उन्हें राजस्थान वापस ले जाने की तैयारी करने लगे। उधर, रईस अपनी दुल्हन का इंतजार कर रहे थे।

National Hindi News, 25 April 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

काजी ने की पहल : इस दौरान शफीना और रईस के निकाह अटकने का खतरा मंडराने लगा। ऐसे में काजी ने पहल की और यह निकाह पढ़वा दिया। बता दें कि ऑल इंडिया मुस्लिम समाज द्वारा आयोजित यह 5वां निकाह सम्मेलन था, जिसके संयोजक नूर उल्ला युसूफ जई थे। पदाधिकारी शफीक खान ने बताया कि इस साल सम्मेलन में 70 विवाह कराने का लक्ष्य था, जो इस विवाह से पूरा हो गया।

परेशान हो गए सभी लोग : शफीना की हालत अचानक बिगड़ने से उसके परिजन परेशान हो गए और आधे रास्ते से घर वापस जाने की तैयारी करने लगे। यह खबर जब होने वाले दूल्हे रईस और सम्मेलन के आयोजकों को मिली तो वे भी चिंतित हो उठे। ऐसे में निकाह पढ़वाने आए काजी ने अनोखा तरीका निकाल लिया। बता दें कि शफीना का निकाह अगर नहीं होता तो सामूहिक विवाह सम्मेलन अधूरा रह जाता, जिसमें एक साथ 70 शादी कराने का आयोजन किया गया था।

काजी ने निकाला यह तरीका : ऐसे में काजी ने गवाहों से बात की और निकाह फोन पर पढ़वाने की मंजूरी मांगी। उस वक्त शफीना एंबुलेंस में थीं। इसके बाद काजी ने मोबाइल पर ही शफीना और रईस की शादी करा दी। साथ ही, मेहर की रकम भी तय कर दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App