ताज़ा खबर
 

AAP छोड़ सकती हैं अलका लांबा, बोलीं- आत्मसम्मान से नहीं करूंगी समझौता, केजरीवाल पर लगाया साइडलाइन करने का आरोप

आम आदमी पार्टी (आप) की विधायक अलका लांबा का कहना है कि उन्हें पार्टी में साइडलाइन किए जाने की कोशिश की जा रही है।

Author February 5, 2019 10:46 AM
अलका लांबा और अरविंद केजरीवाल, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

आम आदमी पार्टी (आप) की विधायक अलका लांबा का कहना है कि उन्हें पार्टी में साइडलाइन किए जाने की कोशिश की जा रही है। जिसके चलते दिल्ली के मुख्यमंत्री व पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर न सिर्फ अनफॉलो कर दिया है बल्कि पार्टी के व्हाट्सएप ग्रुप से भी निकाल दिया है। ऐसे मौजूदा हालात में उन्हें पार्टी में कार्य करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

क्या है पूरा मामला: दिल्ली के चांदनी चौक से ‘आप’ की विधायक अलका लांबा ने कहा कि मुझे ऐसा लग रहा है कि पार्टी को अब मेरी सेवाओं की जरूरत नहीं है, लेकिन जब तक मैं विधायक हूं, अपने क्षेत्र के लोगों के लिए काम जारी रखूंगी। इसके साथ ही लांबा ने कहा कि उन्होंने आम आदमी पार्टी (आप) को एक संदेश भेजकर उनका रुख जानने की भी कोशिश की है। इसके साथ ही लांबा ने दावा किया है कि उन्हें पार्टी के सभी आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप से हटा दिया गया है, वहीं पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने उन्हें ट्विटर पर अनफॉलो भी कर दिया।

आत्मसम्मान से समझौता नहीं: अलका ने ये भी कहा कि व्हाट्सएप ग्रुप से निकालना, ट्विटर पर अनफॉलो करना और मुझे मीटिंग्स में न बुलाने जैसे चीजों से मुझे महसूस हो रहा है कि मुझे भी बाकी विधायकों जैसे ही इज्जत चाहिए जो नहीं मिल रही है। अगर ऐसे ही माहौल रहा तो मुझे पार्टी के साथ आगे काम करने में बहुत मुश्किल होगी। मैं अपने आत्मसम्मान से समझौता नहीं कर सकती हूं।

पिछले साल पार्टी ने अलका से मांगा था इस्तीफा: गौरतलब है कि पिछले साल खबर आई थी कि आम आदमी पार्टी (आप) ने अलका से उनकी विधायकी और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा मांगा था। सूत्रों के मुताबिक बताया गया था कि अलका इस बात पर अड़ी थीं कि 1984 में क्योंकि तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने सिख विरोधी हिंसा को उचित ठहराते हुए कहा था कि जब कोई बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती है, इसलिए केंद्र सरकार से राजीव गांधी को दिए सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न वापस लेने के लिए प्रस्ताव पास किया जाए। वहीं इस पूरे मामले पर मनीष सिसोदिया ने साफ इनकार कर दिया था कि पार्टी ने किसी से इस्तीफा नहीं मांगा है।

कांग्रेस से नजदीकी: हाल ही में ऐसा भी सुनने को मिला था कि कांग्रेस के काफी नजदीक नजर आ रही हैं अलका लांबा। इस मुद्दे पर अलका ने कहा कि सबको ऐसा लग रहा है कि मैं कांग्रेस से जुड़ने वाली हूं जबकि मैंने आम आदमी पार्टी (आप) के खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोला। वहीं दूसरी ओर वो खुद कांग्रेस के साथ महागठबंधन कर रहे हैं तो वो उनके लिए ठीक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App