ताज़ा खबर
 

अरविंद केजरीवाल के निशाने पर टि्वटर, ट्वीट कर साधा निशाना और पूछा- दिक्‍कत क्‍या है

बताया जाता है कि आप से जुड़ी खबरों के अकाउंट AAPinNews को भी सस्‍पेंड किया गया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (EXPRESS PHOTO BY PRAVEEN KHANNA)

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निशाने पर अब टि्वटर है। शनिवार सुबह(4 मार्च) को उन्‍होंने ट्वीट कर आरोप लगाया कि आप और उसके समर्थकों के अकाउंट डिलीट किए जा रहे हैं। केजरीवाल ने लिखा, ”टि्वटर इंडिया के साथ क्‍या दिक्‍कत है। वे लगभग रोजाना के आधार पर आप और उसके समर्थकों के अकाउंट क्‍यों सस्‍पेंड कर रहे हैं?” बताया जाता है कि आप से जुड़ी खबरों के अकाउंट AAPinNews को भी सस्‍पेंड किया गया है। इसके चलते केजरीवाल ने ट्वीट कर नाराजगी जाहिर की। उन्‍होंने जितेंदर सिंह नाम के एक यूजर के ट्वीट के बाद अपना गुस्‍सा जाहिर किया। जितेंदर सिंह ने लिखा है कि अब AAPinNews को सस्‍पेंड कर दिया गया है।

अरविंद केजरीवाल ने बाद में आप के मीडिया इंचार्ज अंकित लाल के ट्वीट को भी रीट्वीट किया। इसमें भी आप समर्थक अकाउंट को सस्‍पेंड करने के बारे में लिखा गया था। अंकित लाल ने लिखा, ”अब AAPinNews को टि्वटर ने सस्‍पेंड कर दिया। यह आप समर्थक अकाउंट को निशाना बनाकर सस्‍पेंड करने की हद है। लड़ेंगे और वापस आएंगे।”

केजरीवाल पंजाब और गोवा में चुनावी प्रचार के बाद अब दिल्‍ली में हैं। उनके वापस आने के साथ ही दिल्‍ली सरकार में काम की गति भी बढ़ गई है। इसके तहत दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार(3 मार्च) को ही मजदूरी में वृद्धि की घोषणा की। नए प्रस्ताव के तहत अब अकुशल श्रमिकों के लिए मासिक न्यूनतम मजदूरी 9,724 रुपये से बढ़ाकर 13,350 रुपये, अर्धकुशल मजदूरों के लिए मासिक मजदूरी 10,764 रुपये से बढ़ाकर 14,698 रुपये और कुशल श्रमिकों के लिए मासिक मजदूरी 11,830 रुपये से बढ़ाकर 16,182 रुपये कर दी गई है।

दिल्ली सरकार ने सभी रेडियोलॉजी टेस्‍ट फ्री कर दिए हैं। यह सुविधा दिल्‍ली के निवासियों को मिलेगी। सरकार की ओर से इस संबंध में सभी अखबारों में विज्ञापन भी दिए गए थे। इसमें कहा गया था कि एमआरआई, सीटी और अल्‍ट्रासाउंड टेस्‍ट फ्री रहेंगे। यह सुविधा 30 सरकारी और 23 पॉलीक्लिनिक्‍स में मिलेगी।  फ्री टेस्‍ट का लाभ सभी को मिलेगा, इसका आयवर्ग से कोई लेनादेना नहीं है। साथ ही केजरीवाल सरकार ने फ्री में 30 बीमारियों की सर्जरी के लिए 41 प्राइवेट अस्‍पतालों से करार किया है। यह सुविधा तभी मिलेगी जब सरकारी अस्‍पताल से मरीज को रैफर किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App