Arvind Kejriwal sees Arun Jaitley and his family's bank account details - मानहानि मामला: अरविंद केजरीवाल ने मांगे अरुण जेटली और उनके परिवार के बैंक खातों की डिटेल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मानहानि मामला: अरविंद केजरीवाल ने मांगे अरुण जेटली और उनके परिवार के बैंक खातों की डिटेल

जेटली ने 2015 में मामला दायर करके केजरीवाल, राघव चड्ढा, कुमार विश्वास, आशुतोष, संजय सिंह और दीपक वाजपेयी से 10 करोड़ रूपये क्षतिपूर्ति की मांग की थी।

Author नई दिल्ली | February 25, 2017 8:57 PM
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक अर्जी दायर करके वित्त मंत्री अरुण जेटली के बैंक खातों, टैक्स रिटर्न और अन्य वित्तीय रिकार्डों की जानकारी की मांग की।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक अर्जी दायर करके वित्त मंत्री अरुण जेटली के बैंक खातों, टैक्स रिटर्न और अन्य वित्तीय रिकार्डों की जानकारी की मांग की। जेटली ने केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मामला दायर कर रखा है। आप प्रमुख केजरीवाल ने अपनी अर्जी में दलील दी है कि वह जेटली और उनके परिवार के सदस्यों की 1999-2000 से लेकर 2014-2015 के दौरान के वित्तीय रिकार्ड मांग रहे हैं ताकि वह भाजपा के वरिष्ठ नेता की ओर उनके एवं पार्टी के उन पांच नेताओं के खिलाफ किये गए दावों का ‘‘खंडन’’ कर सकें जिनका नाम मानहानि मामले में है।

जेटली ने 2015 में मामला दायर करके केजरीवाल, राघव चड्ढा, कुमार विश्वास, आशुतोष, संजय सिंह और दीपक वाजपेयी से 10 करोड़ रूपये क्षतिपूर्ति की मांग की थी। आप नेताओं ने कथित तौर पर जेटली और उनके परिवार के सदस्यों पर विभिन्न मंचों पर हमला किया था जिसमें सोशल मीडिया शामिल था। यह हमला दिल्ली एवं जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) में कथित अनियमितताओं और वित्तीय गड़बड़ियों को लेकर था जिसके वह 2013 तक 13 वर्ष तक अध्यक्ष रहे। जेटली अपने कार्यकाल के दौरान डीडीसीए में वित्तीय गड़बड़ियों के आरोपों को पहले ही नकार चुके हैं।

सम्पर्क किये जाने पर जेटली के वकीलों ने कहा कि अभी उन्होंने अर्जी पर गौर नहीं किया है और किसी भी मामले में अदालत में सूचीबद्ध होने से पहले अर्जी को मीडिया में प्रसारित करना प्रतिवादी की ओर से अत्यंत शरारतपूर्ण है। अर्जी अधिवक्ता अनुपम श्रीवास्तव के जरिये दायर की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App