Arvind kejriwal said, He said that no officer and no constitutional body was bad, instead, politics was bad - Jansatta
ताज़ा खबर
 

20 विधायकों की बर्खास्तगी पर बोले अरविंद केजरीवाल- राजनीतिक हस्तक्षेप से नष्ट होती हैं संवैधानिक संस्थाएं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि संवैधानिक संस्थाओं के कामकाज में किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए।

Author नयी दिल्ली | January 25, 2018 10:38 PM
दिल्ली चीफ मिनिस्टर अरविंद केजरीवाल।(फाइल फोटो)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घुरुवार को कहा कि संवैधानिक संस्थाओं के कामकाज में किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए। उन्होंने आप के 20 विधायकों को चुनाव आयोग की सिफारिश पर राष्ट्रपति द्वारा अयोग्य करार दिए जाने के कुछ दिनों बाद यह कहा है। उत्तरी दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में एक गणतंत्र दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि ‘राजनीतिक हस्तक्षेप’ हर संवैधानिक संस्था को नष्ट कर देती है। दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) का उदाहरण देते हुए केजरीवाल ने कहा कि आयोग ने पुलिस के साथ मिल कर महिलाओं के मुद्दे पर एक उल्लेखनीय काम किया है और ऐसा इसलिए संभव हुआ कि ना ही दिल्ली सरकार और ना ही केंद्र सरकार ने उनके कामकाज में हस्तक्षेप किया।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे अधिकारी अच्छे हैं। हमारी संवैधानिक संस्थाएं अच्छी हैं। यदि कुछ गलत है, तो यह राजनीति है। मैं आशा करता हूं कि जिस तरह से हमने डीसीडब्ल्यू, पुलिस के कामकाज में हस्तक्षेप नहीं किया और उन्हें स्वतंत्रता से काम करने दिया, उसी तरह से मुझे उम्मीद है कि सभी संवैधानिक संस्थाओं को स्वतंत्र रूप से काम करने दिया जाएगा और वे बेहतर काम कर सकती हैं। केजरीवाल ने महिलाओं के खिलाफ अपराध के विषय पर कार्यक्रम में कहा कि हर परिवार को लड़कों को इस बारे में प्रशिक्षित करना चाहिए कि वे महिलाओं का सम्मान करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App