ताज़ा खबर
 

केजरीवाल ने दिया हृदय परिवर्तन का फार्मूला

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सम-विषम फार्मूले का उल्लंघन करने वालों को फूल देने को कहा है। केजरीवाल ने राजधानी में सम-विषम नंबर के अनुसार चलने की योजना के कार्यान्वयन में मदद के लिए तैनात किए जाने वाले कार्यकर्ताओं को बुधवार को चेतावनी भी दी..
Author नई दिल्ली | December 31, 2015 02:38 am

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सम-विषम फार्मूले का उल्लंघन करने वालों को फूल देने को कहा है। केजरीवाल ने राजधानी में सम-विषम नंबर के अनुसार चलने की योजना के कार्यान्वयन में मदद के लिए तैनात किए जाने वाले कार्यकर्ताओं को बुधवार को चेतावनी भी दी कि वे लोगों से बहस या दुर्व्यवहार नहीं करें। उन्होंने कहा कि नियमों का उल्लंघन करने वालों को फूल देने जैसा काम कर उनमें बदलाव लाने पर ध्यान केंद्रित करें।

उन्होंने स्कूली छात्रों से अपील की कि वे अपने अभिभावकों, रिश्तेदारों और दोस्तों से आग्रह करें कि वे सम-विषम योजना का अनुसरण करें जो एक जनवरी से लागू हो रही है और उन्हें कार पूलिंग के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि वे भी ऐसा ही करेंगे। केजरीवाल ने छात्रों से कहा कि उन्हें लोगों का हृदय बदलना होगा। किसी का चालान करना या किसी के साथ बहस या दुर्व्यवहार नहीं करना है। उन्होंने नियमों का पालन करवाने की ड्यूटी में जुटने वाले कार्यकर्ताओं से कहा कि वे रेड लाइट पर तख्तियां लेकर खड़े रहें और किसी उल्लंघन करने वाले को देखते ही उन्हें फूल दें और उनसे घर लौट जाने का आग्रह करें।

मुख्यमंत्री छत्रसाल स्टेडियम में सिविल डिफेंस के लोगों, एनसीसी और एनएसएस कैडेट सहित कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले केजरीवाल ने सिविल लाइंस में राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय के छात्रों को प्रदूषण से लड़ने की शपथ दिलाई और अपने अभिभावकों, रिश्तेदारों और दोस्तों से आग्रह करने को कहा कि वे सम-विषम योजना का पालन करें। केजरीवाल ने कहा कि महज चालान करने से योजना सफल नहीं होगी और दिल्ली के लोग जब तक नहीं समझेंगे कि यह उनका आंदोलन है वे इसे लागू नहीं करवा सकते हैं।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में हर किसी को समझने की जरूरत है कि यह उनका अपना आंदोलन है। उन्हें इस वजह से इसका अनुसरण करने की जरूरत नहीं है कि केजरीवाल और उनकी सरकार इस बारे में कठोरता बरत रही है। बल्कि उन्हें इस कारण इसका अनुसरण करने की जरूरत है कि यह उनकी, उनके बच्चों की जिंदगी से जुड़ा हुआ सवाल है। केजरीवाल ने छात्रों से कहा कि अगर आप किसी को सम-विषम योजना का उल्लंघन करते देखें तो उनसे कहें कि वापस घर जाइए। अगर इस तरह के उल्लंघनकर्ता को दस रेड लाइट पर टोका जाता है तो वह शर्मिंदगी महसूस करेगा और मुझे उम्मीद है कि वह घर लौट जाएगा।

केजरीवाल ने कहा कि उनके बेटे पुलकित ने उनसे पूछा कि बच्चे क्या कर सकते हैं और उन्हें उनसे क्या उम्मीद करनी चाहिए। उन्होंने छात्रों को सलाह दी कि तीन मुख्य बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित करें-सम विषम योजना का पालन करें और अपने अभिभावकों को विश्वास दिलाएं और उनसे कहें कि प्रदूषण नियंत्रण सर्टिफिकेट साथ रखें और उल्लंघन करने वालों को शर्मिंदगी का अहसास कराएं। इस महीने तक राजधानी में कार मुक्त दिनों के अनुभव के बारे में केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के लोग कार मुक्त नीति का स्वागत कर रहे हैं और इसे लागू करने के लिए पूरी दिल्ली तैयार है।

लोगों की ओर से योजना से बचने के लिए दो कार खरीदने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने इसे आधारहीन दावा करार दिया। केजरीवाल ने कहा कि योजना से बचने के लिए लोगों के दो कार खरीदने के बारे में मीडिया बढ़ा-चढ़ाकर चीजों को पेश कर रहा है। ज्यादातर लोग इतने धनी नहीं हैं और धनी लोगों के पास पहले ही एक से ज्यादा कारें हैं। ये सभी आधारहीन दावे हैं जिसे पिछले कुछ दिनों से प्रचारित किया जा रहा है। यह कोई स्थायी योजना नहीं है।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और परिवहन मंत्री गोपाल राय भी मौजूद थे। केजरीवाल ने कहा कि वे खुद ही राय के साथ कार पूल करेंगे जो उनके आवास से ज्यादा दूर नहीं रहते।

उल्लंघनकर्ता की घर वापसी: दिल्ली में हर किसी को समझने की जरूरत है कि यह उनका अपना आंदोलन है। उन्हें इस वजह से इसका अनुसरण करने की जरूरत नहीं है कि सरकार इस बारे में कठोरता बरत रही है। बल्कि उन्हें इस कारण इसका अनुसरण करने की जरूरत है कि यह उनकी, उनके बच्चों की जिंदगी से जुड़ा हुआ सवाल है। अगर आप किसी को सम-विषम योजना का उल्लंघन करते देखें तो उनसे कहें कि वापस घर जाइए। अगर इस तरह के उल्लंघनकर्ता को दस रेड लाइट पर टोका जाता है तो वह शर्मिंदगी महसूस करेगा और मुझे उम्मीद है कि वह घर लौट जाएगा।… अरविंद केजरीवाल ने छात्रों से कहा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App