ताज़ा खबर
 

केजरीवाल की पीएम मोदी को चुनौती- चार दिनों के लिए अपनी फाइल दिखाइए, सबक सिखा दूंगा

आप सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर एक समारोह को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, "दिल्ली सरकार अपनी नीतियों को लागू कराने के लिए केंद सरकार की ओर से नियुक्त उप राज्यपाल अनिल बैजल से संघर्ष कर रही है।"

Author नई दिल्ली | February 14, 2018 21:18 pm
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो, सोर्स- AP)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को मोदी सरकार पर दिल्ली के विकास में बाधा पहुंचाने का आरोप लगाया और कहा कि अगर उन्हें फाइल मुहैया कराई जाए तो वह केंद्र के गलत कामों को साबित कर सकते हैं। आप सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर एक समारोह को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली सरकार अपनी नीतियों को लागू कराने के लिए केंद सरकार की ओर से नियुक्त उप राज्यपाल अनिल बैजल से संघर्ष कर रही है।” उन्होंने कहा कि केंद्र की ओर से नियुक्त शुंगलु समिति कई महीनों तक जांच के बाद भी दिल्ली सरकार की 440 फाइलों में कोई गलती नहीं निकाल पाई।

इसके जवाब में उन्होंने मोदी सरकार से उनकी सभी सरकारी फाइलों को उन्हें देने की चुनौती दी। केजरीवाल ने कहा, “आप चार दिनों के लिए मुझे अपनी फाइल दिखाए और मैं आपको सबक सिखाऊंगा।” उन्होंने कहा कि दिल्ली विधानसभा में पारित 16 से 17 विधेयक केंद्र सरकार के पास लंबित पड़े हुए हैं। उन्होंने उप राज्यपाल पर उनकी सरकार की मोहल्ला क्लीनिक योजना को लटकाने का भी आरोप लगाया।

वहीं, अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को राज्य में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के तीन साल पूरे होने पर शहर में मुफ्त वाई-फाई, अनाधिकृत कालोनियों में सड़कें व नालियां और 900 मोहल्ला क्लीनिकों के निर्माण का वादा किया। मुख्यमंत्री आप सरकार के तीन साल होने के अवसर पर आयोजित एक समारोह नें बोल रहे थे। शहर में मुफ्त वाई-फाई के बारे में केजरीवाल ने कहा, “इस साल पूरी दिल्ली में मुफ्त वाई-फाई लागू कर दिया जाएगा, सरकार इसे पूरा बजट आवंटित करने जा रही है।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए सड़कों के दोनों ओर खाली पड़ी जगहों पर पौधे और पेड़ लगाए जाएंगे ताकि हवा में धूल न मिले। केजरीवाल ने कहा, “बजट में 500 किलोमीटर सड़कों पर लैंडस्केपिंग के लिए प्रावधान किए गए हैं।” मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले एक साल में सड़कों के निर्माण और मरम्मत के लिए भारी निवेश किया जाएगा। उन्होंने कहा, “अगले एक साल में हम कच्ची कॉलोनियों के अंदर सड़कों और नालियों को बनाने का प्रयास करेंगे।”

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App