ताज़ा खबर
 

आर्मी चीफ बोले- आतंकवाद छोड़ दे पाकिस्तान, हम भी नीरज चोपड़ा की तरह करेंगे बर्ताव

पिछले दिनों भाला फेंक स्पर्धा के भारतीय खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की एक तस्वीर वायरल हुई। उन्होंने 18वें एशियाई खेलों के नौवें दिन में पुरुषों की भाला फेंक स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। दूसरे नंबर पर पाकिस्तान के नदीम अरशद रहे। प्रतियोगिता में पहले स्थान बनाने के बाद नीरज चोपड़ा ने सिर झुकाकर पाकिस्तानी खिलाड़ी का सम्मान किया और उनसे हाथ मिलाया।

सेना प्रमुख बिपिन रावत (पीटीआई फोटो)

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कहा है कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान अगर सीमा पार आतंकवाद बंद करता है तो भारत को नीरज चोपड़ा की तरह दोस्ती का हाथ बढ़ाने में कोई हिचकिचाहट नहीं होगी। दरअसल पिछले दिनों भाला फेंक स्पर्धा के भारतीय खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की एक तस्वीर वायरल हुई। उन्होंने 18वें एशियाई खेलों के नौवें दिन में पुरुषों की भाला फेंक स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। दूसरे नंबर पर पाकिस्तान के नदीम अरशद रहे। प्रतियोगिता में पहले स्थान बनाने के बाद नीरज चोपड़ा ने सिर झुकाकर पाकिस्तानी खिलाड़ी का सम्मान किया और उनसे हाथ मिलाया।

इसी तस्वीर के वायरल होने पर आर्मी चीफ से सवाल पूछा गया था क्या भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर ऐसा दिख सकता है? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से सीमा पर आतंकवाद बंद करने को कहा। जनरल रावत ने कहा, ‘सीमा पार आतंक को रोकने के लिए पाकिस्तान को पहल करने दें। अगर वो आतंकवाद को रोकते हैं तो हम भी नीरज चोपड़ा की तरह व्यवहार करेंगे।’ बता दें कि 20 साल के नीरज चोपड़ा ने उस वक्त लाखों लोगों का दिल जीत लिया जब उन्होंने भाला फेंक प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 88.06 मीटर थ्रो फेंकी। अपने लाजवाब प्रदर्शन के बाद उन्होंने दूसरे नंबर पर रहे पाकिस्तानी खिलाड़ी नदीम अरशद (80.75) का सिर झुकाकर सम्मान किया और उनसे हाथ मिलाया था।

गौरतलब है कि एशियाई खेल में सेना से जुड़े खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया। भारत के कुल जीते 69 पदकों में से सेना ने 11 जीते। इस जीत को सेना प्रमुख ने सिर्फ ट्रेलर करार देते हुए कहा कि टोक्यो में होने वाले 2020 के ओलंपिक में पूरी फिल्म दिखाई देगी। सेना प्रमुख ने कहा कि उन्हें आगामी बड़े खेल आयोजन से काफी उम्मीदें हैं। इन खेलों में भारतीय सेना के 73 प्रतिनिधि थे, जिनमें 66 एथलीट और सात कोच शामिल थे। जनरल रावत के मुताबिक, ‘हमने चार स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य पदक जीते है। मुझे और भी ज्यादा पदक की उम्मीद थी लेकिन मैं निराश नहीं हुआ हूं। मुझे पता है कि वो और भी ज्यादा कड़ी मेहनत करेंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

    Tags:
  • JK