ताज़ा खबर
 

सिर्फ मूर्ख दिवस ही नहीं, इन लोगों की वजह से भी खास है एक अप्रैल

1 अप्रैल को कई देशों में मूर्ख दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोगो एक दूसरे को प्रैंक आदि से मूर्ख बनाते हैं। हालांकि इस तारीख को कुछ ऐसे लोगों का भी जन्म हुआ जो मेहनत से आम से खास बन गए।

रैंडी ऑर्टन, मोहम्मद हामिद अंसारी और अयाज खान, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

1 अप्रैल को कई देशों में मूर्ख दिवस मनाया जाता है। यह एक ऐसे दिन के रूप में मनाया जाता है जब लोग आपस में एक दूसरे से मजाक करते हैं। ऐसे में इस खास दिन पर एक नजर उन खास लोगों पर भी जो आज ही की तारीख में पैदा हुए थे। बता दें कि रैंडी ऑर्टन से मोहम्मद हामिद अंसारी तक कई दिग्गज आज ही के दिन पैदा हुए थे।

अयाज खान: अयाज खान एक टीवी और बॉलीवुड एक्टर हैं। बता दें कि अयाज कई बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके हैं। वो फिल्म ‘जाने तू.. जानें तू या जाने न’, ब्लफमास्टर, चश्मे बद्दूर के अलावा राहुल बोस और ईशा देओल के साथ ‘घोस्ट घोस्ट न रहा’ में भी काम कर चुके है। इसके साथ ही फिल्म अपना सा में भी वो नजर आ चुके हैं। फिल्मों के अलावा अगर बात टीवी की करें तो स्टार वन के दिल मिल गए शो में शुभांकर राय के किरदार से उन्होंने जनता का दिल जीत लिया था।

मोहम्मद हामिद अंसारी: देश के 12वें उप-राष्ट्रपति रह चुके मोहम्मद हामिद अंसारी का जन्म 1 अप्रैल 1937 को ही हुआ था। बता दें कि इंडियन फॉरेन सर्विस से रिटायर हुए हामिद 20017-2017 तक भारत के राष्ट्रपति थे। इसके साथ ही वह अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय के उपकुलपति भी रह चुके हैं। गौरतलब है कि हामिद भारतीय राजदूत भी रह चुके हैं।

अजित वाडेकर: भारतीय टीम ने कप्तान अजित वाडेकर की अगुवाई में पहली बार विदेशी धरती पर टेस्ट सीरीज जीती थी उनका जन्म भी एक अप्रैल को हुआ था। बता दें कि अजित ने 1966 से 1974 तक भारत की अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए क्रिकेट खेला था। ये अपने क्रिकेट कैरियर में तीसरे नम्बर पर बल्लेबाजी करने आते थे। ये भारतीय क्रिकेट टीम की तरफ से एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के पहले कप्तान है। इनकी कप्तानी में भारत ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम और वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के ख़िलाफ़ शृंखला भी जीती थी। गौरतलब है कि एक इंटरव्यू में वाडेकर ने बताया था कि 1994 में 31 मार्च की रात को सचिन तेंदुलकर अजित के पास 6 बैले डांसर लेकर पहुंच गए थे। अजित वाडेकर को भारत सरकार ने इनके अच्छे प्रदर्शन के लिए 1967 में अर्जुन पुरस्कार से नवाजा था और फिर1972 में एक बार भी सरकार ने पद्म श्री पुरस्कार से नवाजा था।

National Hindi News, 1 April 2019 LIVE Updates: पढ़ें आज के सभी बड़े अपडेट्स

मुरली विजय: मुरली विजय भी एक अप्रैल को ही पैदा हुए थे। मुरली विजय एक भारतीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर हैं, जो दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज के रूप में खेलते हैं। वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट में तमिलनाडु और इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स का भी प्रतिनिधित्व करते हैं। बता दें कि हाल फिलहाल में वो भारतीय टेस्ट टीम से बाहर चल रहे हैं।

रैंडी ऑर्टन: रान्डल कीथ ऑर्टन एक एक अमेरिकी पेशेवर पहलवान और अभिनेता हैं। ऑर्टन ने डब्ल्यूडब्ल्यूई (WWE) में हस्ताक्षर किए जहां वह स्मैकडाउन ब्रांड पर प्रदर्शन करते हैं। उनका जन्म 1 अप्रैल 1980 को हुआ था और उनकी उम्र 30 वर्ष है। गौरतलब है कि रैंडी को WWE के खतरनाक रैसलरों में से एक माना जाता है। रैंडी ऑर्टन के साथ जॉन सीना, ट्रिपल एच, अंडरटेकर आदि की स्टोरीलाइन लोगों द्वारा काफी पसंद भी की गई।

के बी हेडगेवार: 1 अप्रैल 1889 को नागपुर के एक गरीब ब्राह्मण परिवार में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्थापक डा. केशव राव बलीराम हेडगेवार का जन्म हुआ था | बताते हैं कि वह बचपन से ही क्रांतिकारी प्रवृति के थे और उन्हें अंग्रेज शासको से घृणा थी | अभी स्कूल में ही पढ़ते थे कि अंग्रेज इंस्पेक्टर के स्कूल में निरिक्षण के लिए आने पर केशव राव ने अपने कुछ सहपाठियों के साथ उनका वन्दे मातरम जयघोष से स्वागत किया जिस पर वह बिफर गया और उसके आदेश पर केशव राव को स्कूल से निकाल दिया गया |

मन्नारगुडी ईश्वरन: प्रसिद्ध कर्नाटक संगीतकार हैं मन्नारगुडी ईश्वरन। बता दें कि ईश्वरन एक अग्रणी समकालीन मृदंगम वादक और कर्नाटक संगीतज्ञ हैं। 1 अप्रैल 1947 को जन्मे वे ऑल इंडिया रेडियो के एक कर्मचारी कलाकार भी थे और उन्हें कई पुरस्कार मिले हैं।

Next Stories
1 सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर का हाल: न फायरिंग रेंज, न बाउंड्री वॉल; पुलवामा अटैक से पहले भी अफसरों ने हेडक्वॉर्टर को लिखी थी चिट्ठी
2 DDA Housing Scheme 2019: महंगे होने के बाद भी नरेला से ज्यादा वसंत कुंज में लोगों का इंट्रेस्ट, जानें वजह
3 दलित शिक्षक ने 4 टीचरों पर लगाया भेदभाव करने का आरोप, पीड़ित की पीएचडी कैंसल करने में जुटा IIT Kanpur
यह पढ़ा क्या?
X