ताज़ा खबर
 

पंजाब: आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, AK-47 के साथ 3 छात्र गिरफ्तार, देश के खिलाफ रच रहे थे साजिश

पंजाब और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की संयुक्‍त टीम ने जालंधर के सीटी इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्‍टल पर छापा मारा था। इसमें कश्‍मीर के तीन छात्रों को गिरफ्तार किया गया। तीनों का संबंध अंसार गजवत-उल-हिंद नामक आतंकी संगठन से बताया गया है।

सीटी इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्‍टल से गिरफ्तार छात्रों के बारे में जानकारी देते जालंधर के पुलिस आयुक्‍त।

सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। खुफिया सूचना के आधार पर पंजाब और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की संयुक्‍त टीम ने जालंधर के शाहपुर में स्थित सीटी इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट एंड टेक्‍नोलॉजी कॉलेज के हॉस्‍टल में छापा मारा। पुलिसकर्मियों ने कॉलेज के छात्रावास से AK-47, पिस्‍टल और बड़ी मात्रा में कारतूस बरामद किया है। इसके साथ ही इंजीनियरिंग के तीन छात्रों को गिरफ्तार भी किया गया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार छात्र कश्‍मीर के रहने वाले हैं। इनका संबंध अंसार गजवत-उल-हिंद नामक आतंकी संगठन से बताया गया है। जालंधर के पुलिस आयुक्‍त ने बताया कि आतंकी संगठन से जुड़े छात्र 3-4 वर्षों से कॉलेज में पढ़ रहे थे। अंसार उल-हिंद के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस के हाथ कुछ अन्‍य सबूत भी लगे हैं। बताया जाता है कि आतंकी मॉड्यूल में शामिल छात्र हमले की साजिश रच रहे थे। बता दें कि भारत में त्‍योहारों का सीजन आ चुका है, ऐसे में आतंकी हमले की फिराक में हैं। वहीं, सुरक्षा एजेंसियां भी चौकन्‍नी हैं। सभी संदिग्‍धों को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

दीपावली में हमले की कर रहे थे तैयारी: गिरफ्तार छात्रों की पहचान जाहिद गुलजार (अवंतीपोरा, श्रीनगर), मोहम्‍मद इदरीश शाह और यूसुफ रफीक बट्ट (दोनों पुलवामा निवासी) के तौर पर की गई है। जाहिद के कमरे से दो AK-47 राइफल और विस्‍फोटक बरामद किया गया। पुलिस की मानें तो गिरफ्तार संदिग्‍ध आतंकी दीपावली के मौके पर आतंकी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। सुरक्षाबलों की इस संयुक्‍त कार्रवाई के बाद पंजाब पुलिस में हड़कंप है। छात्रों में भी दहशत का माहौल है। पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी है। गिरफ्तार छात्रों में यूसुफ कुख्‍यात आतंकी मूसा का चचेरा भाई है। बता दें कि पिछले कुछ महीनों में उच्‍च शिक्षा हासिल करने वाले कई कश्‍मीरी छात्रों को आतंकी गतिविधियों में संलिप्‍तता के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है।

पंजाब के डीजीपी ने बताया कि जम्‍मू-कश्‍मीर और पंजाब पुलिस राज्‍य में सक्रिय कुछ आतंकी संगठनों की लगातार निगरानी कर रहे थे। इस दौरान कुछ खुफिया इनपुट मिले थे। इसके आधार पर इंजीनियरिंग कॉले के हॉस्‍टल पर छापा मारा गया था। पुलिस फिलहाल मामले की छानबीन में जुटी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App