ताज़ा खबर
 

ताला लगाना भूला स्टाफ तो पुलिस ने बैंक में जड़ी हथकड़ी

याडीकी पुलिस सब इंस्पेक्टर काथी श्रीनिवासालू ने बताया रात के समय हम बैंक और एटीएम की सुरक्षा की जांच करते हैं। जब हम रात 1.30 के करीब सिडीकेट बैंक की ब्रांच में पहुंचे तो वहां हमें लाइट जलती हुई दिखी और ब्रांच का मुख्य द्वार खुला हुआ था।

Author हैदराबाद | January 25, 2017 12:03 PM
सिंडीकेट बैंक की शाखा पर पुलिस ने लगाई हथकड़ी। (Representative Image)

आपने बैंक के दरवाजे पर ताला लगा हुआ देखा होगा, लेकिन क्या कभी बैंक के गेट पर हथकड़ी लगी देखी है। फिलहाल यह घटना सही है। दरअसल आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में स्थित सिंडीकेट बैंक की एक शाखा में कर्मचारी ताला लगाना भूल गए थे, जिसके कारण कामकाज का समय खत्म होने के बाद भी बैंक का दरवाजा खुला हुआ था। रात को पुलिस जब गश्त पर निकली तो उसकी नजर इस पर पड़ी। जिसके बाद पुलिस के पास कोई और विकल्प नहीं होने के कारण दरवाजे पर हथकड़ी लगा दी। यह घटना सोमवार रात की है और इसका पता उस समय चला जब सुबह बैंककर्मी शाखा पहुंचे।

याडीकी पुलिस सब इंस्पेक्टर काथी श्रीनिवासालू ने मुंबई मिरर को बताया रात के समय हम बैंक और एटीएम की सुरक्षा की जांच करते हैं। जब हम रात 1.30 के करीब सिडीकेट बैंक की ब्रांच में पहुंचे तो वहां हमें लाइट जलती हुई दिखी और ब्रांच का मुख्य द्वार खुला हुआ था। पहले हमे लगा कि यह चोरों का काम हो सकता है। लेकिन 20 मिनट का इंतजार करने के बाद हमें इस बात का एहसास हुआ कि बैंक स्टाफ लाइट और बैंक का दरवाजा बंद करना भूल गया है। बैंक के खोजबीन करने के बाद जब हमें कुछ नहीं मिला तो हमने इसे बंद करने के लिए हथकड़ी लगाने का फैसला किया।

उन्होंने बताया कि इस बात की जानकारी देने के लिए हमने ब्रांच मैनेजर को 5 बार कॉल किया लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। बैंककर्मियों को उस समय इस बात का पता चला जब वह सुबह 8 बजे काम करने के पहुंचे। जिसके बाद उन्होंने इस बात की जानकारी ब्रांच मैनेजर को दी। जिसके बाद बैंक मैनेजर पुलिस थाने पहुंचे। उन्होंने बताया कि दफ्तर के काम से मेन ब्रांच गए हुए थे और रात को सीधे अपने घर चले गए थे। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि एक कर्मचारी रात 10 बजे तक काम कर रहा था और जाने वक्त ताला लगाना भूल गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App