ताज़ा खबर
 

इस गांव में महिलाओं के नाइटी पहनने पर 2000 रुपये का जुर्माना, सूचना देनेवाले को 1000 का इनाम

कहा जा रहा है कि जुर्माने से इकट्ठा होने वाले पैसों का इस्तेमाल गांव के विकास के लिए किया जाएगा। गांव की आबादी करीब 36 हजार है। गांव की एक महिला सरस्वती ने कहा कि महिलाओं पर जुर्माना लगाने का ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है यह सिर्फ अफवाह है।

नियम का पालन करवाने के लिए रणनीति भी बनाई गई है। (Photo ANI)

आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले के तोकालापल्ली गांव में महिलाओं को दिन के दौरान रात पहनने के लिए मना किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि गांव के बुजुर्गों ने फैसला किया है कि किसी भी महिला को सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे नाइटी नहीं पहननी चाहिए। अगर कोई ‘नियम’ का पालन नहीं करता है, तो 2000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके अलावा नियम का पालन करवाने के लिए रणनीति भी बनाई गई है। अगर कोई शख्स किसी महिला के दिन में नाइटी पहनने की जानकारी गांव के बुजर्गों को देगा तो उसे 1 हजार रुपए के इनाम से नवाजा जाएगा। कहा जा रहा है कि जुर्माने से इकट्ठा होने वाले पैसों का इस्तेमाल गांव के विकास के लिए किया जाएगा।

गांव की आबादी करीब 36 हजार है। इस तरह के अजीबोगरीब नियम की खबरें जब सामने आईं तो तहसीलदार सुंदर राजू और पुलिस सब इंस्पेक्टर विजय कुमार ने हालात के जायजा लेने के लिए गांव के दौरा किया। हालांकि, इस दौरान सबसे चौंकाने वाली बात यह रही कि कोई महिला इस तथाकथित नियम का विरोध करने के लिए आगे नहीं आईं।

मीडिया से बात करते हुए गांव की एक महिला सरस्वती ने कहा कि महिलाओं पर जुर्माना लगाने का ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया गया है यह सिर्फ अफवाह है। सरस्वती ने कहा, ‘गांव में महिलाओं ने दिन में रात के कपड़े न पहनने का फैसला किया और इस बारे में बुजर्गों को सूचित किया गया। यह उस वक्त था जब उन्होंने एक खास समय सीमा तय की। लेकिन महिलाओं से जुर्माना वसूल करने का कोई ऐसा नियम नहीं है। गांव की एक अन्य महिला कृष्णा कुमारी ने कहा कि वे गांव में सभी महिलाओं द्वारा बनाए गए नियमों का पालन करने से ‘बहुत खुश’ हैं। उन्होंने कहा, ‘हम सभी ने सामूहिक रूप से इस परंपरा का पालन करने का निर्णय लिया है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App