ताज़ा खबर
 

रेप के बाद छात्रा को दी एबॉर्शन पिल्स, आरोपी शिक्षक की लोगों ने निकाली परेड

छात्रा के गुस्साए परिजनों ने शिक्षक की जमकर पिटाई की। आक्रोशित भीड़ ने उसके कपड़े फाड़ दिए और जमकर पीटा। पीटने के बाद शिक्षक का जुलूस निकालते हुए लोग उसे पुलिस स्टेशन ले गए।

प्रतीकात्मक तस्वीर

आंध्र प्रदेश के एक स्कूल शिक्षक को भीड़ ने सारे कपड़े उतारकर पीटा। यही नहीं, बाद में स्कूल शिक्षक का उसी हालत में भीड़ ने जुलूस भी निकाला। शिक्षक पर अपनी ही एक स्टूडेंट का दो साल से रेप करने का आरोप था। ये वाकया गोदावरी जिले के इलूरू कस्बे का हैै। इस पूरे वाकये का वीडियो भी एक राहगीर ने शूट किया है। इसमें साफ देखा जा सकता है कि 38 वर्षीय शिक्षक रामबाबू को भीड़ मारते हुए भरी सड़क पर ले जा रही हैै।

अंग्रेजी शिक्षक रामबाबू कथित तौर पर दो सालों से 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली एक छात्रा का यौन उत्पीड़न कर रहा था। हाल ही में जब छात्रा गर्भवती हो गई तो उसने छात्रा को गर्भपात की गोलियां लाकर दे दीं। गोलियां खाने के बाद छात्रा को भारी मात्रा में रक्त बहने की शिकायत हुई। इसके बाद छात्रा के परिवार को दुष्कर्म और गर्भ ठहरने के बारे में जानकारी हुई।

छात्रा के गुस्साए परिजनों ने शिक्षक की जमकर पिटाई की। आक्रोशित भीड़ ने उसके कपड़े फाड़ दिए और जमकर पीटा। पीटने के बाद शिक्षक का जुलूस निकालते हुए लोग उसे पुलिस स्टेशन ले गए। वीडियो में देखा जा सकता है कि दो लोगों ने शिक्षक को उसके हाथों से पकड़ रखा है और उसे पुलिस स्टेशन ले जा रहे हैं। वीडियो में खड़ा शख्स कहते हुए दिखाई देता है,” वह शिक्षक है और 10वीं कक्षा की छात्रा को नंबरों का लालच देकर रेप करता है। इसी ने उसे प्रेग्नेंट किया। लड़की खून बहने के कारण मरने वाली थी। हमने लड़की को अस्पताल में भर्ती करवाया है। हम एक बार रामबाबू को पा गए तो हम उसे छोड़ने वाले नहीं थे।”

पुलिस स्टेशन में रामबाबू को खुद को ढकने के लिए शर्ट और तौलिया दिया गया। बाद में उसे बैठाकर पुलिस ने सवाल-जवाब किए। स्कूल शिक्षक रामबाबू ने कथित तौर पर पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। उसने कहा,”उन्होंने मुझे बातचीत के लिए बुलाया था इसके बाद करीब 15 लोगों ने मुझे निर्ममतापूर्वक पीटा।” इसके बाद पुलिस ने बच्ची के परिजनों की शिकायत पर रामबाबू को मामला दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App