ताज़ा खबर
 

वो दिन दूर नहीं जब 100 रुपये में मिलेगा एक लीटर पेट्रोल, पीएम मोदी पर सीएम का तंज

टीडीपी चार साल तक केंद्र की एनडीए सरकार में शामिल थी लेकिन इस साल के शुरू में चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग पर एनडीए से नाता तोड़ लिया था।

आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू और पीएम मोदी की फाइल फोटो।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने तेल की बढ़ती कीमतों और डॉलर के मुकाबले रुपये के गिरते मूल्य पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है और कहा है कि बहुत जल्द देश में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर होगी और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत भी शतक लगाएगी। नायडू ने सोमवार (03 सितंबर) को अमरावती में मीडिया से बातचीत में कहा कि पीएम मोदी ने नोटबंदी लागू कर देश की आर्थिक प्रगति को रोक दिया है। उन्होंने कहा कि इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि आने वाले समय में आपको एक डॉलर देकर एक लीटर पेट्रोल खरीदना पड़े। पीएम पर निशाना साधता हुए नाडयू ने पूछा कि नोटबंदी लागू कर क्या हासिल हुआ? उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार नोटबंदी को लागू करने में पूरी तरह से फेल रही है। उन्होंने तंज कसा कि पीएम ने बड़े नोटों को चलन से बाहर करने की बात कही मगर खुद 2000 रुपये के बड़े नोट ले आए। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद से लेकर आजतक बाजार कैश की कमी झेल रहा है। उन्होंने कहा कि डिजिटल करेंसी से किसी को भी परेशानी नहीं है लेकिन डिजिटल और फिजिकल करेंसी में एक संतुलन होना चाहिए।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32 GB (Venom Black)
    ₹ 8199 MRP ₹ 11999 -32%
    ₹410 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹1485 Cashback

केंद्र सरकार की पूर्व सहयोगी दल टीडीपी के अध्यक्ष नायडू ने कहा कि देश की मौजूदा जीडीपी ग्रोथ केंद्र सरकार की उपलब्धि नहीं है बल्कि लोगों की मूलभूत आर्थिक मजबूती का परिणाम है। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी के शासनकाल में देश में आर्थिक अनुशासन नहीं रहा। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को पिछले दो सालों में सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा है। उन्होंने पूछा कि नोटबंदी लागू करते समय प्रधानमंत्री ने जिन उद्देश्यों की चर्चा की थी उनमें से एक भी पूरे नहीं हुए। नायडू ने कहा न तो करप्शन रुका, न ही कालाधन वापस आया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद केंद्र सरकार ने डिजिटल इकोनॉमी से जुड़ी एक कमेटी का उन्हें कन्वेनर बनाया था और उन्होंने 2000 और 500 रुपये के नोट बंद करने और 100 और 200 रुपये के ज्यादा नोट छापने की सिफारिश की थी, ताकि आमलोगों को इससे राहत मिल सके और बड़े ट्रांजैक्शन के लिए लोग डिजिटल करेंसी का इस्तेमाल कर सकें।

बता दें कि टीडीपी चार साल तक केंद्र की एनडीए सरकार में शामिल थी लेकिन इस साल के शुरू में चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग पर एनडीए से नाता तोड़ लिया था। उसके बाद से नायडू लगातार मोदी सरकार पर हमला करते रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App