ताज़ा खबर
 

बजट पर टीडीपी के हंगामे के बीच केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश सरकार को जारी किए 1,269 करोड़ रुपये

केन्द्र की ओर से दी गयी अनुदान राशि में से 417.44 करोड़ रुपये पोलावरम बहुद्देशीय परियोजना के लिए दिये गये हैं। गौरतलब है कि यह योजना तेदेपा और भाजपा के बीच मतभेद के कारणों में से एक है।

संसद के बाहर महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन कर रहे टीडीपी सांसद

आम बजट में आंध्र प्रदेश को कम आवंटन पर तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसदों के हंगामे के बीच केंद्र सरकार ने पिछले कुछ दिनों में राज्य को 1,269 करोड़ रुपये जारी किए हैं। केन्द्र की ओर से दी गयी अनुदान राशि में से 417.44 करोड़ रुपये पोलावरम बहुद्देशीय परियोजना के लिए दिये गये हैं। गौरतलब है कि यह योजना तेदेपा और भाजपा के बीच मतभेद के कारणों में से एक है। बता दें कि संसद में बजट पेश होने के बाद टीडीपी के सांसद राज्य को कम आवंटन के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। राज्य के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने भी विदेश दौरे पर रहते हुए भी पार्टी सांसदों को फोन पर संसद में मामले को उठाते रहने का निर्देश दिया था। टीडीपी आंध्र प्रदेश को स्पेशल पैकेज देने की मांग कर रही है। राज्य बंटवारे के समय राज्य को स्पेशल पैकेज देने की बात कही गई थी जो आज तक मोदी सरकार ने नहीं दिया है।

HOT DEALS

माना जा रहा है कि एनडीए के अंदर टीडीपी के गतिरोध को पाटने के लिए ही केंद्र सरकार ने रुपये जारी किए हैं। केन्द्रीय जल संसाधन मंत्रालय के वरिष्ठ संयुक्त आयुक्त आर. पी. एस. वर्मा का कहना है कि राज्य द्वारा एक अप्रैल, 2014 से पोलावरम सिंचाई परियोजना के तहत खर्च की गयी रकम के एवज में 417.44 करोड़ रुपये की राशि जारी की गयी है। हालांकि केन्द्र ने पोलावरम परियोजना प्राधिकरण के माध्यम से अभी तक परियोजना के लिए 4,329 करोड़ रुपये जारी किये हैं, जबकि राज्य सरकार का कहना है कि पोलावरम के राष्ट्रीय परियोजना घोषित होने के बाद से वह इस पर 7,200 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च कर चुकी है।

आंध्र प्रदेश के वित्त मंत्री यनामला रामकृष्णुडु ने केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को पिछले महीने सौंपे गये ज्ञापन में कहा था कि पोलावरम परियोजना पर खर्च हुए 3,217.63 करोड़ रुपये अभी तक राज्य को वापस नहीं मिले हैं। जल संसाधन विभाग के एक अधिकारी का कहना है कि केन्द्र ने इसमें से 417.44 करोड़ रुपये जारी किये हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App