ताज़ा खबर
 

भगवान को चढ़ाई गई चीजें देख रहे थे, एक चीज देखकर हैरान रह गया मंदिर का स्‍टाफ

मंदिर के अधिकारियों से फोन की नीलामी अथवा इसके इस्तेमाल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि स्थापित परंपरा के मुताबिक स्मार्टफोन या फिर किसी भी इलेक्ट्रानिक वस्तु को जमीन में दबा दिया जाता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

आंध्रा प्रदेश के एक मंदिर में एक भक्त ने अपनी मुराद पूरी होने की खुशी में भगवान को एक अनोखा चढ़ावा चढ़ाया। ये चढ़ावा ना तो सोने का मुकुट था, और ना ही चेक, नकदी। भगवान का चढ़ाया गया या ये तोहफा था हुंडी में लिपटा एक आईफोन-सिक्स एस। ये वाकया है कृष्णानगर के मोपीदेवी में स्थित भगवान सुब्रह्मण्यम स्वामी मंदिर का। दरअसल मंदिर का एक स्टाफ जब दिन भर के चढ़ावे को गिन रहा था। इस शख्स ने उसने हुंडी में लिपटी हुई एक चीज देखी।

इस शख्स ने जब हुंडी खोली तो उसके आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा। इस शख्स ने देखा था कि हुंडी में एक आईफोन-सिक्स लिपटा हुआ था। इस शख्स ने तुरंत मंदिर के कार्यवाहक अधिकारी एम श्रद्धा कुमार को सूचित किया। मंदिर के सुपरिंटेंडेंट ए मधुसूदन ने कहा कि यह पहली बार है जब चढ़ावे में किसी शख्स ने स्मार्टफोन दिया है। उन्होंने कहा, “हो सकता है एक भक्त ने स्मार्टफोन का बिजनेस शुरु किया हो और भगवान को खुश करने के लिए उसने आईफोन चढ़ा दिया। ए मधुसूदन ने कहा कि हमलोग सरकार को लिखेंगे और इस बारे में दिशानिर्देश मांगेगे कि इन गिफ्ट का क्या किया जाए।

जब मंदिर के अधिकारियों से फोन की नीलामी अथवा इसके इस्तेमाल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि स्थापित परंपरा के मुताबिक स्मार्टफोन या फिर किसी भी इलेक्ट्रानिक वस्तु को जमीन में दबा दिया जाता है। बता दें कि विजयवाड़ा से 65 किलोमीटर दूर इस मंदिर में लोग सर्प दोष निवारण और केतु दोष पूजा के लिए आते हैं। इसके अलावा इस मंदिर दृष्टि, कान और चर्म से जुड़े बीमारियों के निदान के लिए भी लोग आते हैं।

बता दें कि कृष्णानगर  स्थित भगवान सुब्रह्मण्यम स्वामी मंदिर अपनी धार्मिक मान्यताओं के लिए लोगों के बीच प्रसिद्ध है। स्थानीय लोगों की मान्यता है कि यहां पर सच्चे मन से मुराद मांगने पर वो जरूर पूरी होती है। दक्षिण भारत के मंदिरों में सोने के जेवरात चढ़ाने की पुरानी परंपरा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App