ताज़ा खबर
 

सरकार ने मांगी थी जमीन, 11 किसानों ने कर ली आत्महत्या

नायडू सरकार ने राजधानी अमरावती को विकसित करने के लिए यह जमीन मांगी थी। सूचना के अधिकार कानून के जरिए सामने आई जानकारी का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा कि 11 किसानों में से छह दलित थे।

June 26, 2019 5:47 AM
किसानों की आत्महत्या पर प्रतीकात्मक तस्वीर

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने मंगलवार को यहां कहा कि पूर्व की चंद्रबाबू नायडू सरकार की भूमि एकत्रीकरण योजना के तहत अपनी जमीन देने को अनिच्छुक 11 किसानों ने ‘उत्पीड़न’ के बाद आत्महत्या कर ली। नायडू सरकार ने राजधानी अमरावती को विकसित करने के लिए यह जमीन मांगी थी। सूचना के अधिकार कानून के जरिए सामने आई जानकारी का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा कि 11 किसानों में से छह दलित थे।

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि राजधानी के लिए जमीन नहीं देना चाह रहे किसानों के प्रति कोई मानवीयता नहीं दिखाई गई। जगन ने कहा, ‘‘भूमि संग्रहीकरण के नाम पर, जो अपनी जमीन नहीं देना चाहते थे…उनके प्रति कोई मानवीयता नहीं दिखाई गई। किसानों का उत्पीड़न किया गया और उनके खिलाफ झूठे मामले दर्ज किए गए, इतना कुछ कि उनमें से 11 ने पिछले तीन साल में आत्महत्या कर ली।’’ उन्होंने पूछा, ‘‘क्या यह सुशासन है? क्या यह सही तरीका है? क्या यह नंबर एक पुलिस व्यवस्था है?’’ मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टरों, पुलिस अधीक्षकों एवं शीर्ष आईपीएस अधिकारियों के संयुक्त सम्मेलन में ये बातें कहीं।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X