ताज़ा खबर
 

कोरोना मरीजों के लिए हॉस्पिटल बनाए गए होटल में लगी भीषण आग, दस की मौत; राज्य सराकर ने परिजनों को 50-50 लाख देने की घोषणा की

कोरोना हॉस्पिटल बनाए गए इस होटल में घटना के वक्त चालीस मरीज और मेडिकल के स्टाफ के दस कर्मचारी मौजूद थे।

hotel in Vijayawadaकोविड सेंटर बनाए गए इस होटल में 22 मरीज भर्ती थे। (ANI)

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में कोरोना मरीजों के लिए अस्पताल बनाए गए एक होटल में भीषण आग लगने से दस कोरोना मरीजों की मौत हो गई और दर्जनभर से ज्यादा घायल हो गए। इसके अलावा 30 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। कोरोना हॉस्पिटल बनाए गए इस होटल में घटना के वक्त चालीस मरीज और मेडिकल के स्टाफ के दस कर्मचारी मौजूद थे। वहीं राज्य सरकार ने हॉस्पिटल में जान गंवाने वाले मरीजों के परिजनों को पचास-पचास लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

कृष्णा जिले के कलेक्टर मोहम्मद इम्तियाज ने बताया कि आग रविवार (9 अगस्त, 2020) सुबह करीब पांच बजे लगी। हॉस्पिटल में मरीजों का इलाज चल रहा था। पूरी इमारत को खाली कराया गया है। उन्होंने कहा कि शुरुआती रिपोर्ट के मुताबिक आग शॉट सर्किट की वजह से लगी मगर हमें जांज कर इसका पता लगाएंगे।

आग लगने की घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने दुख और शोक व्यक्त किया है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों से घटना की जानकारी ली है। आंध्र प्रदेश सीएम ऑफिस ने कहा कि सीएम ने अधिकारियों को घायलों को आसपास के हॉस्पिटल में भर्ती का कराने का भी निर्देश दिया है।

Coronavirus Live Updates

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दुर्घटना की जांच करने का भी निर्देश दिया है। बता दें कि आग उस होटल में लगी जिसे लीज पर लिया गया था और कोरोना मरीजों के इलाज के लिए इसे एक निजी हॉस्पिटल द्वारा संचालित किया जा रहा था।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले गुरुवार को गुजरात के अहमदाबाद में कोरोना मरीजों के एक हॉस्पिटल में आग लगने से आठ मरीजों की मौत गई थी। मृतकों में पांच पुरुष और तीन महिलाएं शामिल थीं। सभी मृतक कोरोना संक्रमित थे और उनका आईसीयू में इलाज चल रहा था। इस दुर्घटना पर पीएम मोदी ने दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजन को 2-2 लाख रुपए मदद की घोषणा की। इसके अलावा घायलों को 50-50 हजार रुपए देने की बात कही गई।

दुर्घटना पर राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने जांच के आदेश दिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव संगीता सिंह की अगुवाई में टीम को 3 दिनों के अंदर जांच रिपोर्ट सौंपने को कहा गया। जानकारी के मुताबिक नवरंगपुरा के कोविड-19 डेडिकेटेड श्रेय अस्पताल में सुबह करीब साढ़े तीन बजे आ लगी थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अयोध्या: मस्जिद वाली जगह पर शिलान्यास के लिए योगी आदित्य नाथ को देंगे न्योता- ट्रस्ट ने किया एलान
2 पटना, रांची समेत आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 13 जिलों में कोरोना से हर सात में से एक मौत, केंद्र ने दिए जांच बढ़ाने के निर्देश
3 MP: बेटा पैदा करने को लेकर पति और सास-ससुर करते थे परेशान! 2 नाबालिग बेटियों को ले कुएं में महिला ने लगाई छलांग; मौत
IPL 2020 LIVE
X