ताज़ा खबर
 

स्टिंग में रिश्वत लेते हुए देखे गये नेताओं को पार्टी से बाहर निकालें ममता बनर्जी: अमित शाह

अमित शाह ने यह भी कहा कि चुनाव आयोग को नारद स्टिंग में देखे गये पुलिस अधिकारियों और कोलकाता पुलिस के आयुक्त को भी हटा देना चाहिए।

Author कोलकाता | March 29, 2016 6:08 PM
BJP, kerala BJP, amit shah, sreesanth, odisha BJP, BJP revoltभाजपा अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा हमला करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार (29 मार्च) को उन्हें चुनौती दी कि नारद पोर्टल की क्लिप में कथित तौर पर रिश्वत लेते हुए देखे गये तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को नैतिक आधार पर पार्टी से निकाला जाये। शाह ने सारदा घोटाले में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच मिलीभगत के आरोपों को भी खारिज करते हुए कहा कि सीबीआई जांच में समय लग रहा है क्योंकि पश्चिम बंगाल सरकार की बनाई एसआईटी ने पूरे मामले में गड़बड़ी की है।

शाह ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ममता बनर्जी ने पहले भ्रष्टाचार से लड़ने का संकल्प लिया था। ममता दी को नैतिक आधार पर उन पार्टी नेताओं को बाहर कर देना चाहिए जिन्हें कैमरे पर रिश्वत लेते हुए देखा गया। अगर ममता दी को इतना भरोसा है कि उनके पार्टी नेता बेगुनाह है तो वह नारद स्टिंग ऑपरेशन के मामले में सीबीआई जांच का अनुरोध क्यों नहीं कर रहीं।’’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘लोकसभा में हमारे पास बहुमत था इसलिए हमने मामले को आचार समिति को भेजा लेकिन राज्यसभा में हमारे पास बहुमत नहीं है। कांग्रेस और कम्युनिस्ट राज्यसभा में बहुमत में हैं तो वे इसे आचार समिति को क्यों नहीं भेज रहे।’’ जब पूछा गया कि भाजपा सरकार नारदा स्टिंग की सीडी की जांच कराने की पहल क्यों नहीं कर रही तो शाह ने कहा, ‘‘संघीय ढांचा होता है। जैसे ही ममता दी नारद स्टिंग के मामले में सीबीआई जांच के लिए कहेंगी, हम सीडी की जांच कराएंगे।’’

उत्तराखंड में सामने आई स्टिंग ऑपरेशन की सीडी की जांच के लिए भाजपा द्वारा पहल किये जाने का उदाहरण देने पर शाह ने कहा, ‘‘उत्तराखंड के राज्यपाल ने सीडी भेजी थीं। राज्य सरकार सीबीआई जांच के लिए कहेगी तो हम सीडी की जांच करेंगे।’’

शाह ने यह भी कहा कि चुनाव आयोग को नारद स्टिंग में देखे गये पुलिस अधिकारियों और कोलकाता पुलिस के आयुक्त को भी हटा देना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘पहले हम खोजी पत्रकार देखा करते थे, अब हम खोजी पुलिस देख रहे हैं जहां हमारे नेता राहुल सिन्हा को फंसाने के लिए पुलिस भेजी जा रही है। मैं ममता दी को बता देना चाहता हूं कि आपकी पार्टी चूंकि नारद घोटाले में बदनाम हो गयी है, इसलिए आप हमारी छवि भी खराब करने की कोशिश कर रहे हैं।’’

शाह ने कहा, ‘‘दो जूनियर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का क्या मतलब, जबकि पुलिस आयुक्त इसमें सीधे तौर पर शामिल हैं। मैं चुनाव आयोग से अनुरोध करूंगा कि मामले को देखें और निष्पक्ष तथा स्वतंत्र चुनावों के लिए नारद के स्टिंग में देखे गये पुलिस अधिकारियों और कोलकाता के पुलिस आयुक्त को हटाया जाना चाहिए।’’ उन्होंने पश्चिम बंगाल में गठबंधन बनाने वाली कांग्रेस और माकपा पर निशाना साधते हुए कहा कि वे केरल में एक दूसरे के खिलाफ लड़ रहे हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने दोहराया कि तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच कोई सौदा नहीं हुआ है और उनकी पार्टी कभी भ्रष्टाचार के मुद्दे पर समझौता नहीं करेगी। शाह ने कहा, ‘‘भाजपा के अध्यक्ष के तौर पर मैं यह बात साफ कह रहा हूं कि भाजपा और तृणमूल कांग्रेस या भाजपा और कम्युनिस्टों के बीच कभी समझौता नहीं हो सकता।’’

Next Stories
1 उत्तराखंड हाईकोर्ट का आदेश- विसभा में 31 मार्च को होगा हरीश रावत सरकार का बहुमत परीक्षण, केंद्र ने कहा- सुप्रीम कोर्ट जाएंगे
2 SUPREME COURT ने SEBI से कहा- सहारा समूह की संपत्ति बेच कर वसूल कीजिए पैसा
3 मोटापा घटाने में मददगार Voice Control मोबाइल App
आज का राशिफल
X