ताज़ा खबर
 

वंशवाद, जातिवाद में आखिरी कील साबित होंगे 2019 के चुनाव : शाह

अमित ने कहा कि केंद्र सरकार ने लक्षित कर उड़ी का बदला लिया। दूसरी ओर, कांग्रेस सवाल उठाकर देश को असुरक्षित करने वालों का साथ दे रही है। उन्होंने कहा कि असम में 40 लाख घुसपैठियों को चिन्हित किया गया।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (बीच में), केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (बाएं) और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को नई दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रविवार को कहा कि वंशवाद, जातिवाद व भ्रष्टाचार की राजनीति के लिए 2019 के लोकसभा चुनाव आखिरी कील होंगे। अमित शाह ने रविवार को आइजीआइ स्टेडियम में बूथ स्तरीय अध्यक्ष या प्रभारियों के सम्मेलन को संबोधित किया। इस सम्मेलन में भाजपा के 16 हजार से अधिक कार्यकर्ता शामिल हुए। शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव भाजपा प्रचंड बहुमत से वापसी करेगी। उन्होंने कहा कि देश भर में इस तरह के सम्मेलन कर पार्टी की वापसी तय की जाएगी। अपने भाषण पार्टी अध्यक्ष ने कांग्रेस व दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार के कामकाज पर सीधा हमला बोला।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने 26 जनवरी तक देश के हर घर में बिजली पहुंचाने का फैसला लिया है। इसके अतिरिक्त नक्सलवाद पर रोक, गरीब के घर उजाला, शहरों में सुविधाओं का विकास, किसानों को डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का काम किया है। इस कामों से भाजपा आगामी लोकसभा चुनावों में अपनी जीत दर्ज कराएगी। सम्मेलन में राष्टÑीय संगठन मंत्री रामलाल, दिल्ली प्रभारी श्याम जाजू, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, विजय गोयल, अनिल जैन, तरुण चुग और अन्य दिल्ली के अन्य सभी सांसद उपस्थित थे।

रफाल मामले में भाजपा पर बार-बार हमलावर हो रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अमित शाह ने घेरा। उन्होंने कहा कि अदालत के निर्णय के बाद भी कांग्रेस रफाल पर गलत आरोप लगा रहे हैं। इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष ने हंगामा किया। उन्हें इस मामले के तथ्य व प्रमाण लेकर सुप्रीम कोर्ट चले जाना चाहिए था लेकिन उन्होंने सुप्रीम कोर्ट जाना उचित नहीं समझा। मामले में सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि इसका कोई वजूद नहीं है और जांच करने की जरूरत नही है। इस मामले में हर कार्यकर्ता नागरिक से संपर्क करें और इसका सत्य बताए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने की कोशिश की है जबकि कांग्रेस के नेतृत्व के खिलाफ 600 करोड़ की आय छिपाने का आरोप है।

अमित ने कहा कि केंद्र सरकार ने लक्षित कर उड़ी का बदला लिया। दूसरी ओर, कांग्रेस सवाल उठाकर देश को असुरक्षित करने वालों का साथ दे रही है। उन्होंने कहा कि असम में 40 लाख घुसपैठियों को चिन्हित किया गया। इस पर भी विरोधी पार्टियों में बवाल खड़ा कर दिया। उन्होंने कहा कि विरोधियों को घुसपैठियों की चिंता है लेकिन देश के लोगों की चिंता नहीं है। केंद्र में सरकार दोबारा बनने पर घुसपैठियों को बाहर निकालने का काम किया जाएगा। घुसपैठ पर हम कोई समझौता नहीं कर सकते। कांगे्रस सरकार ने 70 साल में इस पर कोई काम नहीं किया। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 1984 के दंगों में अदालत ने कांगे्रसी नेता सज्जन कुमार को सजा दी है। इससे पहले आज तक दंगा पीड़ितों को न्याय नहीं मिला था क्योंकि दंगा कराने वालों को संरक्षण था। केंद्र सरकार ने इसके लिए एसआइटी गठित की और जांच शुरू की। अब जाकर सिख दंगा पीड़ितों को न्याय मिल रहा है। कांग्रेसी नेताओं को सजा हो रही है। इस सजा से सिद्ध हो गया है कि दंगे तत्कालीन कांग्रेस नेताओं की निगरानी में हुए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार: सीआरपीएफ से मुठभेड़ में एक नक्सली ढेर, एके47, मैगजीन और विस्फोटक सामग्री बरामद
2 कुंभ से पहले एक शख्स ने उड़ाई पुलिस की नींद, बार-बार बोलता है- दुबई से भारत कैसे आया, मुझे नहीं पता
3 राजस्थान: गहलोत कैबिनेट का विस्तार 24 दिसंबर को, इन 23 चेहरों के मंत्री बनने की संभावना