ताज़ा खबर
 

पार्टी में विरोध के बावजूद बेटी मीसा और पत्‍नी राबड़ी को एक साथ राज्‍यसभा भेज सकते हैं लालू

डॉ एजाज अली जैसे नेताओं ने आरजेडी के सीनियर नेता रघुवंश प्रसाद सिंह, जगदानंद सिंह और मनोज झा के ऊपर जेठमलानी को तरजीह दिए जाने को लेकर पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के फैसले पर सवाल उठाए हैं।

Author पटना | May 27, 2016 6:34 PM
बिहार के पांच राज्‍यसभा सीटों के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 31 मई है।

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने अपने पूर्व राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष शरद यादव और सीएम नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले आरसीपी सिंह को राज्‍यसभा भेजने का फैसला किया है। वहीं, आरजेडी द्वारा वरिष्‍ठ वकील राम जेठमलानी और मीसा भारती को उच्‍च सदन में भेजने की संभावना है। बीजेपी राज्‍य के पूर्व डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी और केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण में से किसी एक को चुनने को लेकर अटकी हुई है। बता दें कि बिहार के पांच राज्‍यसभा सीटों के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 31 मई है।

हालांकि, आरजेडी की ओर से मां राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती को राज्‍यसभा भेजने को लेकर अटकलें तेज हैं। राम जेठमलानी को राज्‍यसभा नामांकन मिलने की पूरी उम्‍मीद है। हालांकि, डॉ एजाज अली जैसे नेताओं ने आरजेडी के सीनियर नेता रघुवंश प्रसाद सिंह, जगदानंद सिंह और मनोज झा के ऊपर जेठमलानी को तरजीह दिए जाने को लेकर पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के इस फैसले पर सवाल उठाए हैं।

सूत्र ने बताया, ‘मीसा को भेजा जाना पूरी तरह पक्‍का है अगर परिवार आखिरी मिनटों में उनके बजाए राबड़ी को भेजने का फैसला न करे। अगर मीसा को सक्रिय राजनीति में रहना है तो वे राज्‍यसभा की सीट से नीचे पर समझौता नहीं करेंगी। अगर उन्‍हें एमएलसी बनना होता तो वे काफी पहले बन चुकी होतीं। लालू द्वारा मीसा और राबड़ी, दोनों को राज्‍यसभा भेजने की संभावनाओं से भी इनकार नहीं किया जा सकता।’ सूत्र ने यह भी कहा कि इन दिनों लालू की राजनीति परिवार पर केंद्र‍ित हो गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X