ताज़ा खबर
 

अलवर केस: बढ़ सकती है वसुंधरा सरकार की मुश्किलें, सुप्रीम कोर्ट अवमानना की सुनवाई करने को तैयार

उच्चतम न्यायालय अलवर में हुई लिंचिंग की ताजा घटना के मामले में राजस्थान सरकार के खिलाफ अवमानना याचिकाओं पर 28 अगस्त को सुनवाई करने पर आज हामी भरी।

Author Updated: July 23, 2018 1:48 PM
amit shah Ghanshyam Tiwari, Ghanshyam Tiwari resigns, BJP MLA Ghanshyam Tiwari, Rajasthan bjp mla, Rajasthan bjp, Vasundhara raje, cm Vasundhara raje, Rajasthan assembly election 2018, amit shah, Hindi news, News in Hindi, Jansattaवसुंधरा राजे (Express file photo)

उच्चतम न्यायालय अलवर में हुई मॉब लिंचिंग की ताजा घटना के मामले में राजस्थान सरकार के खिलाफ अवमानना याचिकाओं पर 28 अगस्त को सुनवाई करने पर आज हामी भरी। तुषार गांधी और कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला की ओर से दायर याचिकाओें में आरोप लगाया गया कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बावजूद देश में पीट पीटकर हत्या करने की घटनाएं हो रही हैं।

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की पीठ ने कहा कि याचिकाओं पर सुनवाई 28 अगस्त को की जाएगी। इस पीठ में न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाय चंद्रचूड़ भी शामिल हैं। पीठ के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए गांधी और पूनावाला ने राजस्थान सरकार के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई की मांग की।

याचिकाकर्ताओं ने अपील की कि शीर्ष अदालत के आदेश के पालन के लिए अक्षरश : निर्देश जारी किए जाए। पीठ मुख्य मामले के साथ इस याचिका पर 28 अगस्त को सुनवाई करेगी। न्यायालय ने 17 जुलाई को केन्द्र से कहा था कि पीट पीटकर हत्या की घटनाओं से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए संसद में नए कानून बनाने पर विचार करे।

पीठ ने कहा था कि ‘‘भीड़तंत्र की इन विभत्स गतिविधियों को नई पंरपरा नहीं बनने दिया जा सकता। ’’ राजस्थान के अलवर जिले में 21 जुलाई को गाय तस्करी के संदेह में भीड़ ने एक व्यक्ति की पीट पीटकर हत्या कर दी थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रेप पर तेजस्वी का CM-PM पर वार- ‘सुशासन बाबू’ और ‘बेटी बचाओ पीएम’ की अंतरात्मा कहां गई?
2 केंद्रीय मंत्री की सीट से लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं बीजेपी सांसद, बढ़ी पार्टी की टेंशन
3 झारखंड: इस शहर में अनूठी पहल, सावन में जन्मे हर बच्चे के नाम पर एक पौधा!
ये पढ़ा क्या?
X