ताज़ा खबर
 

बिहार में आकाशीय बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत, तमिलनाडु में बिजली की फोटो खींचने पर शख्स की गई जान

बिहार में शुक्रवार (8 जून) को कई इलाकों में आकाशीय बिजली ने कहर बरपाया, जिसकी चपेट में आकर कम से कम 10 लोगों की मौत गई। तमिलनाडु में मोबाइल फोन से बिजली की तस्वीर लेने की कोशिश करने पर एक शख्स को जान गंवानी पड़ी।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

बिहार में शुक्रवार (8 जून) को कई इलाकों में आकाशीय बिजली ने कहर बरपाया, जिसकी चपेट में आकर कम से कम 10 लोगों की मौत गई। पुलिस के मुताबिक सहरसा, दरभंगा, समस्तीपुर और खगड़िया जिले में आकाशीय बिजली गिरने से लोगों की मौत हुई। सहरसा जिले के अलग-अलग इलाकों में आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में 4 लोगों की मौत हुई। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सिमरी बख्तियारपुर थाना क्षेत्र के कडुआ गांव में बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरने से बगीचे में खेल रहे 10 वर्षीय मनीष और अविनाश की मौत हो गई, जबकि तुर्की गांव में रेणु कुमारी के आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई। इसी तरह, सलखुआ थाना क्षेत्र के गोसपुर गांव में भी एक व्यक्ति की मौत आकाशीय बिजली गिरने से हुई है, जिसकी पहचान राम सागर के रूप में की गई है। इधर, दरभंगा जिले के कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र के बैरोबथनाहा गांव में बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से चार लोगों की मौत हो गई। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि मृतकों की पहचान महादेव और हरेराम यादव के रूप में हुई है, जबकि एक अन्य घटना में जनार्दन राम और मदन यादव की मौत हो गई। ये सभी लोग खेतों में काम कर रहे थे।

तमिलनाडु में एक शख्स के लिए मोबाइल फोन के कैमरे से तस्वीरें लेने का शौक उस वक्त मौत का सबब साबित हुआ जब वह आकाश में चमकी बिजली को तस्वीरों में कैद करना चाह रहा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चेन्नई में काम करने वाले 43 वर्षीय शख्स की बुधवार (6 जून) को आकाशीय बिजली की तस्वीर लेते समय मौत हो गई। पुलिस ने शख्स की पहचान एचएम रमेश के तौर पर की है। पुलिस के मुताबिक शख्स की मौत तमिलनाडु के तिरुवल्लूर जिले में हुई। पुलिस ने बताया कि मृतक एचएम रमेश चेन्नई के पास के तुराइप्पाकम इलाके का रहने वाला था। पुलिस के मुताबिक रमेश बुधवार को अपने एक मित्र के सुननंपुकुलम स्थित झींगा फार्म को देखने के लिए जा रहा था तभी यह घटना घटी। आरमबक्कम पुलिस थाने के सूत्रों के मुताबिक दिन में करीब साढ़े तीन बजे रमेश ने अपने स्मार्टफोन के कैमरे से आकाशीय बिजली की फोटो खींचने की कोशिश की लेकिन बिजली उसी पर गिर पड़ी और तुरंत गिर पड़ा।

रमेश के दोस्तों ने जब उसे उठाने की कोशिश की तो देखा कि उसके चेहरे पर और छाती पर जख्म आए थे। आरमबक्कम पुलिस ने लाश को पोन्नेरी सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा। रमेश अपने पीछे 38 वर्षीय पत्नी उमा और 13 वर्षीय बेटी जिया को छोड़ गया है। इस घटना के बाद तुरुवल्लूर जिले की पुलिस ने लोगों को चेतावनी दी है कि वे आकाशीय बिजली की तस्वीरें लेने की कोशिश न करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App