ताज़ा खबर
 

कोलकाता मार्केट में धड़ल्ले से बिक रहे प्लास्टिक के अंडे, KMC ने दिए जांच के आदेश

कोलकाता नगर निगम (KMC) ने शहर के बाजारों में कथित तौर पर 'प्लास्टिक' से बने 'कृत्रिम अंडों' की बिक्री की जांच का आदेश दिया है।

Author नई दिल्ली/ कोलकाता | Updated: March 30, 2017 11:09 PM
कोलकाता नगर निगम (KMC) ने शहर के बाजारों में कथित तौर पर ‘प्लास्टिक’ से बने ‘कृत्रिम अंडों’ की बिक्री की जांच का आदेश दिया है। केएमसी महापौर ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

कोलकाता नगर निगम (KMC) ने शहर के बाजारों में कथित तौर पर ‘प्लास्टिक’ से बने ‘कृत्रिम अंडों’ की बिक्री की जांच का आदेश दिया है। केएमसी महापौर ने गुरुवार को यह जानकारी दी। अनीता कुमार द्वारा ‘कृत्रिम अंडे’ को लेकर पुलिस में की गई शिकायत पर कार्रवाई करते हुए नगरपालिका ने पुलिस और नगर निगम के अधिकारियों से सभी नगरपालिका बाजारों की जांच करने को कहा है। केएमसी के महापौर सोवन चटर्जी ने बताया कि प्लास्टिक के अंडे कोलकाता के तिलजला बाजार में धड़ल्ले से बेचे जा रहे हैं। महापौर का कहना है कि जैसे ही उन्हें प्लास्टिक के अंडों की शिकायत मिली उन्होंने इस बारे में पुलिस को भी बताया, ताकि सभी नगरपालिका बाजारों में जांच की जा सके। उन्होंने बताया कि उन्हें कुछ दस्तावेजी सबूत भी मिले हैं।

शिकायत करने लाले अनीता कुमार के अनुसार, ‘नकली अंडा’ तवे पर डालने पर अजीब तरह से प्लास्टिक की तरह फैल जाता है। अनीता ने कहा, उन्होंने अपना संदेह दूर करने के लिए इसमें आग लगाई और अंडों ने तुरंत आग पकड़ ली। इसका खोल भी प्लास्टिक की तरह दिखता है। अनीतो को विश्वास था कि यह नेचुल अंडे नहीं है, लिहाजा उन्होंने कहा कि एक मां होने के नाते उन्होंने नकली अंडों की पहचान की और दूसरों को सावधान रहने को कहा। आपको बता दें कि इससे पहले बीते साल के अक्टूबर में भी केरल के मार्केट में नकली चायनीज अंडों की खबर आई थी।

मनोरमा न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार केरल के इदुकी जिले में प्लास्टिक के बने कृत्रिम अंडे बरामद हुए थे। स्थानीय नागरिकों ने तमिलनाडु से आने वाली एक गाड़ी को रोका तो उसके अंदर कथित कृत्रिम अंडे बरामद हुए थे। तमिलनाडु की सीमा से जुड़े इदुकी जिले के स्थानीय नागरिकों ने एक सुपरमार्केट से भी ऐसे ही अंडे बरामद करने का दावा किया था। नगारिकों ने इन अंडों को सबके सामने फोड़कर उनका खोल जलाया। उनका दावा था कि अंडे के खोल प्लास्टिक की तरह जल रहे थे। ग्राहकों के अनुसार इन कृत्रिम अंडों का स्वाद भी प्राकृतिक अंडों से अलग है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इन अंडों को कच्चा या पकाकर खुले में छोड़ देने पर ये खराब नहीं होते। हालांकि इन दावों की अभी तक पुष्टि नहीं हो सकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X