यूपी डिप्टी CM के खिलाफ BJP के सहयोगी ने ही दी फर्जीवाड़े की शिकायत, कोर्ट बोला- पुलिस जांचे सर्टिफिकेट्स व मार्कशीट्स

अगले साल विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी नेता और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या पर फर्जी मार्कशीट के आरोप लगे हैं।

Keshav PRasad Mauraya 2
केशव प्रसाद मौर्या (फाइल फोटो)- Source- Indian Express

अगले साल विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी नेता और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या पर फर्जी मार्कशीट के आरोप लगे हैं। मौर्या पर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर चुनाव लड़ने का आरोप किसी और ने नहीं बल्कि उन्हीं की पार्टी के एक नेता ने लगाया है। प्रयागराज निवासी और पार्टी पदाधिकारी दिवाकर नाथ त्रिपाठी ने केशव प्रसाद मौर्या को लेकर शिकायत की है, जिसके बाद एडिशनल चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट नम्रता सिंह ने उनके दस्तावेजों की जांच करने के निर्देश दिए हैं। मामले की अगली सुनवाई 25 अगस्त को होनी है, कोर्ट ने उससे पहले अपनी रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा है।

शिकायतकर्ता दिवाकर त्रिपाठी ने कहा कि केशव प्रसाद मौर्या ने 2007 में इलाहाबाद पश्चिम से विधानसभा चुनाव के लिए अपना नामांकन दाखिल किया, तो उन्होंने हिंदी साहित्य सम्मेलन से दो अंक पत्र और एक इंटरमीडिएट (प्लस II) प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया था, जिसे किसी भी शैक्षिक बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त नहीं है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट और इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि सम्मेलव की डिग्री और सर्टिफिकेट मान्य नहीं हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सम्मेलन हिंदी भाषा और साहित्य में मध्यवर्ती पाठ्यक्रम संचालित करता है। इसके पहले और दूसरे साल के पाठ्यक्रमों को प्रथम और द्वितीया कहा जाता है। त्रिपाठी ने कहा कि मौर्या ने हर चुनावों में अलग अलग शैक्षिक प्रमाण पत्र दिखाए है, जोकि किसी फर्जीवाड़े की ओर इशारा करते हैं।

दिवाकर का दावा है कि द्वितीय के लिए मौर्य की मार्कशीट में फर्जी इनरोलमेंट नंबर का इस्तेमाल किया गया है। उनके अनुसार सम्मेलन के रिकॉर्ड में उसी इनरोलमेंट नंबर पर किसी मंजू सिंह का नाम दर्ज है।

वहीं केशव प्रसाद मौर्या ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए इसे चुनावों से पहले विपक्ष की साजिश करार दिया है। उन्होंने कहा कि आरोपी को बताना चाहिए कि किस कारण वह अपनी ही पार्टी के नेता के खिलाफ आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने 2004 के एक मामले का हवाला देते हुए कहा कि वह काफी समय से मेरे खिलाफ काम कर रहे हैं।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।