RJD में हो गया ऑल इज वेल? पार्टी पोस्टर में रूठे तेज की छोटे भाई तेजस्वी संग वापसी, जानें- कैसे बनी बात?

पार्टी अध्यक्ष ने उन नेताओं और सहयोगियों को जमकर फटकार लगाई है, जिन्होंने तेज प्रताप यादव के साथ गड़बड़ी की है। उन पोस्टरों को भी हटाने को कहा है, जिन पर तेज प्रताप यादव की तस्वीरें नहीं हैं।

RJD, Patna, Lalu Prasad yadav
बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद नेता लालू प्रसाद यादव बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को आशीर्वाद देते हुए। (इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

घर के झगड़े घर में ही सुलझा लें तो घर बर्बाद नहीं होता है। यह कहावत वर्षों से चली आ रही है। बिहार के राजनीतिक परिवार में भी ऐसा ही कुछ हुआ, लेकिन अब पिता ने बेटे को मना लिया तो बात बन गई। घर का झगड़ा भी खत्म हो गया और दोनों के साथ-साथ काम करने की सहमति से पार्टी टूटने का खतरा भी खत्म हो गया। पार्टी के पोस्टरों में भी अब तेजस्वी यादव के साथ तेज प्रताप भी दिखेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव जब जेल में थे, तभी से उनके बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच कुछ मनमुटाव जैसा हो गया था। बाद में पिता के छोटे बेटे तेजस्वी यादव की तरफ बोलने से बड़े बेटे और पिता में भी नाराजगी का भाव आ गया था। बात घर के बाहर आई तो राजनीतिक हलके में चर्चा का विषय बन गया। मीडिया में इसे लेकर कई तरह के बयान आने लगे।

जेल और बीमारी की वजह से लंबे समय बाद राजधानी पटना पहुंचे तो लालू प्रसाद यादव ने सबसे पहले घर के सभी लोगों से एक-एक करके मिलना शुरू किया। घर के स्टाफ से भी बातें कीं। फिर बड़े बेटे के पास जाकर उनकी बातें सुनीं। सिर्फ सुनी ही नहीं समझाई भी और वह भी डेढ़ घंटे तक। इस दौरान तेज प्रताप यादव ने अपने दिल का पूरा गुबार निकाल दिया।

कहा कि मेरे साथ दुर्व्यवहार किया गया। न पार्टी से संबंधित बातों को बताया जाता है और ना ही घर में होने वाले किसी भी कार्यक्रमों की सूचना दी जाती है। बताया कि तेजस्वी यादव को नेता बनाने में उनकी भी सहमति थी, तभी वो नेता बने थे। इस बात पर सहमति बनी थी कि तेजस्वी यादव डिप्टी CM बनेंगे और पार्टी के मुख्य नेता बनेंगे। इसके बावजूद मेरे साथ सौतेला व्यवहार किया गया।

तेज प्रताप ने तेजस्वी के उन साथियों का भी जिक्र किया, जिनकी वजह से विवाद पैदा हुआ। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि तेजस्वी यादव बिहार के मुख्यमंत्री बनें। तेज प्रताप यादव का कहना है कि तेजस्वी के सहयोगियों ने उनके बीच खाई पैदा करने की कोशिश की, लेकिन तेजस्वी ने उनको रोका नहीं, इसी से विवाद ज्यादा गहरा हो गया था।

बताया जा रहा है कि पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने उन नेताओं और सहयोगियों को जमकर फटकार लगाई है, जिन्होंने तेज प्रताप यादव के साथ गड़बड़ी की है। उन पोस्टरों को भी हटाने को कहा है, जिन पर तेज प्रताप यादव की तस्वीरें नहीं हैं। कहा कि पार्टी के किसी भी पोस्टर में अब तेज प्रताप यादव की तस्वीरें जरूर लगी होंगी।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।