ताज़ा खबर
 

कश्मीर में ढेर आतंकी मन्नान को बताया शहीद, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भिड़े छात्र

मन्नान बशीर वानी के मुठभेड़ में मारे जाने की खबर जैसे ही एएमयू पहूंची तो कश्मीरी छात्र लामबंद हो गए और सोशल मीडिया पर बशीर वानी की याद में यूनिवर्सिटी के कैनेडी हॉल में नमाज ए जनाजा के आयोजन की सूचना शेयर की जाने लगी।

Aligarh Muslim University में आतंकी की मौत के बाद हंगामा। (express photo)

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पीएचडी स्कॉलर से हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर बना मन्नान बशीर वानी गुरुवार को कश्मीर में सुरक्षाबलों के साथ हुई एक मुठभेड़ में मारा गया। कश्मीर के शाटगुंड इलाके में हुई इस मुठभेड़ में उसका एक साथी भी मारा गया। वहीं मन्नान बशीर वानी की मौत के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हंगामा हो गया। दरअसल अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों ने बशीर वानी को शहीद घोषित कर यूनिवर्सिटी में नामज ए जनाजा पढ़ने की कोशिश की। जिसका सीनियर छात्रों द्वारा विरोध किया गया। इसके बावजूद कुछ कश्मीरी छात्र भड़क गए। जिसके बाद इस मुद्दे पर प्रॉक्टोरियल टीम और कश्मीरी छात्रों के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई और बाद में सुरक्षाकर्मियों द्वारा कश्मीरी छात्रों को खदेड़ दिया गया।

खबर के अनुसार, मन्नान बशीर वानी के मुठभेड़ में मारे जाने की खबर जैसे ही एएमयू पहूंची तो कश्मीरी छात्र लामबंद हो गए और सोशल मीडिया पर बशीर वानी की याद में यूनिवर्सिटी के कैनेडी हॉल में नमाज ए जनाजा के आयोजन की सूचना शेयर की जाने लगी। इसके बाद शुक्रवार शाम 3 बजे के करीब कश्मीरी छात्र कैनेडी हॉल पहुंच गए। जब इसकी सूचना एएमयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष फैजुल हसन सहित अन्य सीनियर छात्रों को मिली तो वो भी वहां पहुंच गए और कश्मीरी छात्रों को नमाज ए जनाजा का आयोजन करने से रोका। दरअसल सीनियर छात्रों को अंदेशा हो गया था कि यदि यूनिवर्सिटी परिसर में एक आतंकी की याद में नमाज ए जनाजा का आयोजन हुआ तो इससे यूनिवर्सिटी की काफी बदनामी होगी।

सीनियर छात्रों के समझाने के बाद कुछ कश्मीरी छात्र तो सहमद हो गए, लेकिन छात्रों का एक गुट फिर भी अपनी जिद पर अड़ा रहा। इसी बीच प्रॉक्टर प्रोफेसर मोहसिन खान भी प्रॉक्टोरियल टीम के साथ वहां पहुंच गए। इसके बाद नमाज ए जनाजा को लेकर प्रॉक्टोरियल टीम और कश्मीरी छात्रों के एक गुट में तीखी नोकझोंक हो गई। ऐसी खबर भी है कि छात्रों ने एक पत्रकार पर भी हमला कर दिया और उसके 2 मोबाइल छीन लिए। इसके बाद सुरक्षाकर्मियों ने कश्मीरी छात्रों को मौके से खदेड़ दिया और स्थिति पर काबू किया। फिलहाल इस मामले में यूनिवर्सिटी प्रशासन ने सख्त कार्रवाई करते हुए 3 छात्रों को निलंबित कर दिया है और उन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App