सांसद अली अनवर का विवादित बयान: एनटीपीसी का बॉयलर भगवा रंग का होता तो शायद हादसा ना होता - Ali Anwar takes a dig at BJP, says NTPC plant wouldn't have exploded had it been saffron - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सांसद अली अनवर का विवादित बयान: एनटीपीसी का बॉयलर भगवा रंग का होता तो शायद हादसा ना होता

हादसे में मरने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर 26 हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 200 से अधिक लोग इसमें घायल हुए।

पूर्व राज्य सभा सांसद अली अनवर।

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में बुधवार को बड़ा हादसा हुआ। नेशनल थर्मल पॉवर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) के ऊंचाहार प्लांट में बॉयलर का पाइप फट गया था। हादसे में मरने वालों की संख्या गुरुवार को बढ़कर 26 हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 200 से अधिक लोग इसमें घायल हुए। इस हादसे पर जनता दल(यूनाइटेड) से निलंबित सांसद अली अनवर ने कुछ ऐसा बयान दिया है जिससे विवाद गहरा सकते हैं। गुरुवार को बीजेपी पर हमला बोलते हुए अली अनवर ने कहा कि यूपी में ये लोग हर एक चीज़ को भगवा रंग में रंग रहे हैं, अगर एनटीपीसी पावर प्लांट को भी भगवा कर दिये होते तो शायद ये हादसा ना होता। बिहार में नीतीश कुमार के महागठबंधन से अलग होकर बीजेपी के साथ जाने के बाद अली अनवर ने खुलकर बगावत कर दी थी। राज्यसभा सांसद अली अनवर के बगावती सुर के मद्देनजर उन्हें जदयू से निलंबित कर दिया गया। आपको बता दें कि पिछले दिनों यूपी में सचिवालय जैसी इमारतों को भगवा रंग से रंगा गया। यूपी रोडवेज की बसों को भी भगवा रंग का किया जा रहा है। अली अनवर ने यूपी सरकार के इसी फैसले को द्याम में रखते हुए बीजेपी की चुटकी ली है।

एनटीपीसी में हुए इस दर्दनाक हादसे को देखते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना गुरजात दौरा बीच में छोड़ा और घायलों और मृतकों के परिजनों से मिलने रायबरेली पहुंचे।

राहुल से पहले उनकी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी इस घटना पर खेद जताया था। रायबरेली से सांसद सोनिया ने कहा था कि वह पीड़ित परिवार वालों के दुख में साथ हैं। वह उनकी मदद के लिए तत्पर रहेंगी। हालांकि, सोनिया खुद घायलों से मिलने आना चाहती थीं, लेकिन तबीयत में गड़बड़ी के कारण वे आ न सकीं।राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस घटना पर दुख प्रकट किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App