ताज़ा खबर
 

सभा के ल‍िए टीआरएस समर्थकों को ले जा रही सरकारी बसों में बंटी शराब, सबने जमकर पी

आरोप है कि टीआरएस की रैली में शामिल होने सरकारी बसों से अा रहे लोगों के बीच शराब बांटी गई। सबने जमकर शराब पी। वीडियो वायरल होने के बाद विपक्षी पार्टी भाजपा और कांग्रेस ने टीआरएस पर निशाना साधा है।

टीआरएस की रैली (Photo: ANI)

तेलंगाना में सत्तारूढ़ पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने रविवार (2 सितंबर) को एक रैली प्रगति निवेदन सभा का आयोजन किया था। हैदराबाद से करीब 25 किलोमीटर दूर रंगारेड्डी जिला इलाके के इब्राहिमपटनम में आयोजित इस रैली में प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों से लोगों की आने की बात कही जा रही है। सरकारी बस से लेकर ट्रैक्टर तक में सवार होकर समर्थक रैली में शामिल होने पहुंचे। आरोप है कि रैली में शामिल होने सरकारी बसों से अा रहे लोगों के बीच शराब बांटी गई। सबने जमकर शराब पी। टाईम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, समर्थकों को लाने वाली राज्य सड़क परिवहन विभाग की बसों और ठहरने वाले स्कूलों में शराब बांटी गई। इस मामले का वीडियो वायरल होने के बाद विपक्षी कांग्रेस और भाजपा ने टीआरएस नेताओं पर निशाना साधा है। वीडियोज में दिख रहा है कि टीआरएस कार्यकर्ता जो रैली में शामिल होने जा रहे हैं, उनके हाथों में शराब की बोतलें हैं और वे इसे पी रहे हैं।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32GB Venom Black
    ₹ 8925 MRP ₹ 11999 -26%
    ₹446 Cashback
  • Moto C Plus 16 GB 2 GB Starry Black
    ₹ 7999 MRP ₹ 7999 -0%
    ₹0 Cashback

इस मामले पर तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता दासोजू श्रवण ने कहा, “तेलंगाना राज्य सड़क परिवहन विभाग को शर्म आनी चाहिए कि उनके सरकारी बसों में शराब परोसी जा रही है।” भाजपा विधायक राजा सिंह ने कहा, “वीडियो से यह खुलासा हो गया कि टीआरएस नेताओं ने कोनगारा कलान की सभा में भीड़ जुटाने के लिए कई तरह के प्रयास किए। वीडियो में दिख रहा है कि वे आरटीसी बसों में खुले तौर पर पी रहे है और शराब पीने के बाद, वे किसी भी असमाजिक काम को अंजाम दे सकते हैं। मैं मुख्यमंत्री से शराब पीने के बाद बैठक में भाग लेने वाले पार्टी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करता हूं।”

तेलंगाना कांग्रेस प्रदेश कमेटि के प्रवक्ता मान्ने कृशांक ने कहा कि, “तेलंगाना सरकार ने आरटीसी बसों का राजनीतिक उपयोग कर के खुलेआम नियमों का उल्लंघन किया है। 60 से 80 लोगों के बैठने की क्षमता वाले बसों में 10 लोगों को ले जाना, पैसे की बर्बादी है। हम जानना चाहते हैं कि सरकार ने इंधन और यात्रा खर्च के लिए आटीसी को कितने पैसे दिए। हम आरटीसी बसों पर शराब पीने के लिए टीआरएस नेताओं की भी निंदा करते हैं। टीआरएस तेलंगाना राजनीति में अनैतिक कार्यों को प्रोत्साहित कर रहा है।” इस सब के बीच बस यात्रियों ने वारंगल जले के हनामकोडा बस स्टैंड पर जमकर हंगामा किया। आरोप लगाया कि टीआरएस की रैली के लिए सभी बसों को डायवर्ट कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App