अक्षरधाम आतंकी हमला 2002: 15 साल बाद पकड़ा गया साजिशकर्ता अब्‍दुल राशिद अजमेरी - Akshardham Terror Attack 2002: After 15 Years Conspirator Abdul Rashid Ajmeri Caught - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अक्षरधाम आतंकी हमला 2002: 15 साल बाद पकड़ा गया साजिशकर्ता अब्‍दुल राशिद अजमेरी

अब्‍दुल राशिद अजमेरी पर आरोप है कि उसने इस आतंकवादी हमले की साजिश रची थी और लश्कर ए तैयबा को साजिश को अंजाम तक पहुंचाने में मदद की थी।

Author अहमदाबाद | November 4, 2017 8:33 PM
अब्‍दुल राशिद अजमेरी (Express Photo: Salman Raja)

गांधीनगर में वर्ष 2002 में अक्षरधाम मंदिर पर हुए आतंकवादी हमले के कथित मुख्य साजिशकर्ता अब्दुल राशिद अजमेरी को शुक्रवार रात रियाद से अहमदाबाद पहुंचने पर हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया गया। अहमदाबाद अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त दीपन भद्रन ने कहा, ‘‘अजमेरी अक्षरधाम मंदिर आतंकवादी हमले की योजना बनाने वालों में एक है। उसे शुक्रवार रात यहां पहुंचने पर हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया गया। हमारे पास इस बात की खबर थी कि वह अपने भाई से मिलने के लिए रियाद से अहमदाबाद आ रहा है।’’

आरोप है कि उसने इस आतंकवादी हमले की साजिश रची थी और लश्कर ए तैयबा को साजिश को अंजाम तक पहुंचाने में मदद की थी। भद्रन ने बताया कि अहमदाबाद निवासी अजमेरी यह आतंकवादी हमला होने के बाद रियाद भाग गया था। उससे पूछताछ के दौरान और कई नाम सामने आ सकते हैं। पाकिस्तान के लश्कर ए तैयबा से कथित संबंध रखने वाले दो आतंकवादियों ने 24 सितंबर, 2002 को गांधीनगर में अक्षरधाम मंदिर पर हमला किया था।

इस हमले में 32 लोगों की जान गई थी और 80 से ज्यादा लोगों को जख्मी हो गए थे। राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के कमांडो ने इन हमलावरों को मार गिराया था। वैसे उच्चतम न्यायालय ने पहले गिरफ्तार किए गए सभी छह व्यक्तियों को मई, 2014 में बरी कर दिया था जिनमें तीन को उससे पूर्व मृत्युदंड दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App