scorecardresearch

UP MLC By Election: इस चुनाव में भी अखिलेश का फैसला बनेगा सपा के गले की फांस

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के नेता ओम प्रकाश राजभर इन दोनों सीटों में से एक सीट पर अपने बेटे अरविंद राजभर को उतारना चाहते हैं, जिससे उनको विधान परिषद भेजा जा सके।

UP MLC By Election: इस चुनाव में भी अखिलेश का फैसला बनेगा सपा के गले की फांस
सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ अखिलेश यादव Photo Credit- PTI

यूपी के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव की दिक्कतें बढ़ती जा रही हैं। पहले यूपी विधानसभा में उनकी पार्टी को बहुमत नहीं मिलने से सत्ता से दूर हो गए, फिर आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा के उपचुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। अब नई दिक्कत विधान परिषद की दो सीटों के लिए उपचुनाव का है। इन दो सीटों पर भाजपा की जीत तय है। बताया जा रहा है दोनों सीटों पर जीत के लिए जितने वोटों की जरूरत है, समाजवादी पार्टी के पास उतने विधायक ही नहीं हैं।

ऐसे में सपा अगर प्रत्याशी उतारती है तो यहां भी उसे हार का सामना करना पड़ेगा। अगर नहीं उतारती है तो मैदान में नहीं उतरने और योगी सरकार के लिए रास्ता साफ करने की आलोचना सहनी पड़ेगी। यानी इस चुनाव में भी अखिलेश का फैसला समाजवादी पार्टी के गले की फांस बनेगी। दोनों सीटों के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 11 अगस्त को मतदान होगा। जीत के लिए दोनों सीटों पर अलग-अलग कम से कम 200 वोटों की जरूरत पड़ेगी।

राज्य विधान परिषद की जिन 2 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है, उनमें से एक सीट सपा के पास ही थी। उनके नेता अहमद हसन के निधन से यह सीट खाली हुई है। जबकि दूसरी सीट भाजपा के ठाकुर जयवीर सिंह के विधान सभा के लिए चुने जाने की वजह से खाली हुई है।

इतना ही नहीं विधानसभा चुनाव से पहले जो दल अखिलेश यादव के साथ आए थे, उनमें से कई उनको छोड़कर अलग हो गए हैं। इनमें से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) के नेता ओम प्रकाश राजभर इन दोनों सीटों में से एक सीट पर अपने बेटे अरविंद राजभर को उतारना चाहते हैं, जिससे उनको विधान परिषद भेजा जा सके।

इसके अलावा भाजपा के भी कई नेताओं के नाम चर्चा में हैं। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओम प्रकाश राजभर को उम्मीद है कि भाजपा उनको अपने कोटे में से एक सीट दे सकती है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि भाजपा किसे मैदान में उतारेगी। इन दो सीटों के अलावा छह और सीटें हैं जो खाली हैं, लेकिन वे मनोनयन वाली सीटें हैं, जिन्हें राज्यपाल मनोनीत करेंगे।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट