ताज़ा खबर
 

मीडिया ने ही केजरीवाल को सीएम बनाया था, आज वही उनको बदनाम करने में जुटा हैः अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव यहां सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगे रिश्वतखोरी के आरोप पर कहा कि मीडिया ने ही एक समय केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाया था, आज वही मीडिया उनको बदनाम करने में जुटा है।

Author लखनऊ | May 8, 2017 9:53 PM
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव। (Photo Source-PTI)

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव यहां सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगे रिश्वतखोरी के आरोप पर कहा कि मीडिया ने ही एक समय केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाया था, आज वही मीडिया उनको बदनाम करने में जुटा है। एक वैवाहिक कार्यक्रम में शिरकत करने कानपुर पहुंचे अखिलेश ने कहा, “केजरीवाल इस वक्त संकट में हैं। पार्टी के लिए चंदा लेना गलत नहीं है, कौन चंदा नहीं लेता। सपा में इस मामले में एकदम पारदर्शिता है, कोई मांगेगा तो सपा चंदे की एक-एक पाई का हिसाब दे सकती है।

उन्होंने कहा कि मीडिया ने ही एक समय केजरीवाल को मुख्यमंत्री बनाया था, आज वही मीडिया उनको बदनाम करने में जुटा है। पार्टी और परिवार से इतर पूछे गए सवालों पर अखिलेश जम कर बोले और प्रदेश की योगी सरकार पर अनदेखी का आरोप लगाया। सपा की मजबूती के लिए सदस्यता अभियान चला रहे अखिलेश ने कहा कि उनकी पार्टी चंदे की एक-एक पाई का हिसाब दे सकती है।

पूर्व एमएलसी लाल सिंह तोमर के यहां शादी समारोह में पहुंचे अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भाजपा सरकार को घेरा और कहा जिस दिन निर्भयाकांड का फैसला आ रहा था, उसी दिन जालौन में एक बेटी के साथ ऐसा ही कृत्य हुआ, लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार ने मामले का संज्ञान तक नहीं लिया। रविवार को गोरखपुर में महिला आईपीएस चारु निगम से भाजपा विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल की फटकार पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि एक भाजपा नेता महिला एसपी से बदसुलूकी करता है और वह महिला अधिकारी फूट-फूट कर रोती है, लेकिन सरकार संज्ञान में नहीं लेती।

उन्होंने आरोप लगाया, “भाजपा नेता और विधायक पुलिस पर गलत काम के लिए दबाव डाल रहे हैं। गोहत्या रोकने के नाम पर कई संगठन समाज में भय पैदा कर रहे हैं और तनाव फैला रहे हैं। भाजपा बंटवारे और तनाव की राजनीति करती है, समाज के बीच भी बंटवारा करती है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App