रालोद नेता जयंत चौधरी के बाद सांसद संजय सिंह से मिले अखिलेश यादव; यूपी में हो सकता है सपा और AAP का गठबंधन

गठबंधन के बारे में आम आदमी पार्टी के नेता ने मीडिया से कहा, “चर्चा अभी शुरू हुई है..अच्छी सार्थक चर्चा हुई है और हम आपको बाद में बताएंगे।”

Akhilesh Yadav Sanjay Singh SP AAP
यूपी चुनाव में भाजपा को टक्कर देने के लिए सपा ने आम आदमी पार्टी से साथ आने को कहा है। (Photo- Twitter @SanjayAzadSln )

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों के बीच गठबंधन को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं। बड़े दलों से मुकाबले के लिए छोटे दल आपस में एकजुट होने की कवायद में जुटे हैं। इसको लेकर सभी दलों के नेता दूसरे दलों के नेताओं से मुलाकात कर उनकी सियासी टोह लेने में जुटे हैं। साथ ही सीटों के बंटवारे को लेकर भी चर्चा तेज हो गई है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हुआ है कौन दल कितनी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगा।

इस बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष की आम आदमी पार्टी के नेता से मुलाकात को लेकर गठबंधन की चर्चा को बल मिल गया है। दोनों दलों के बीच गठबंधन की सुगबुगाहट भी तेज हो गई है। इस समय सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी से मुकाबला करने में समाजवादी पार्टी खुद को राज्य में सबसे मजबूत बता रही है।

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) प्रमुख जयंत चौधरी से मुलाकात के एक दिन बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को आम आदमी पार्टी (आप) उत्तर प्रदेश के प्रभारी व राज्‍यसभा सदस्‍य संजय सिंह से 2022 के विधानसभा चुनावों के लिए ‘रणनीतिक चर्चा’ की।

समाजवादी पार्टी मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद लखनऊ में पत्रकारों से संजय सिंह ने कहा, “उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए साझा एजेंडे पर ‘रणनीतिक चर्चा’ की।”

सपा के साथ गठबंधन के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा, “चर्चा अभी शुरू हुई है..अच्छी सार्थक चर्चा हुई है और हम आपको बाद में बताएंगे।” सिंह ने पहले भी अखिलेश से मुलाकात की थी लेकिन कहा था कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में अकेले चुनाव लड़ेगी। सिंह मंगलवार को ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के मौके पर सपा महासचिव प्रोफेसर रामगोपाल यादव की किताब ”राजनीति के उस पार” के विमोचन पर यहां आयोजित कार्यक्रम में मौजूद थे।

कार्यक्रम में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव और अखिलेश भी मौजूद थे और मुलायम ने देश हित में भ्रष्टाचार और महंगाई के खिलाफ सभी से एकजुट होकर आगे आने का आह्वान किया था। अखिलेश ने आगामी चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे पर चर्चा के लिए मंगलवार को रालोद प्रमुख से मुलाकात की थी। उसके बाद जयंत ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से अखिलेश यादव के साथ फोटो के साथ ट्वीट किया, “बढ़ते कदम।”

वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जयंत चौधरी के साथ अपनी फोटो ट्वीट करते हुए लिखा, “जयंत चौधरी के साथ बदलाव की ओर।” अखिलेश ने अपने बयानों में बार-बार कहा था कि उनकी पार्टी छोटे दलों के साथ गठबंधन के लिए तैयार है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
शिक्षामित्र की गोली मारकर हत्या
अपडेट