ताज़ा खबर
 

मैनपुरी से चुनाव लड़ेंगे मुलायम, डिंपल की सीट पर 2019 में खुद ताल ठोकेंगे अखिलेश

अखिलेश ने कहा, ‘‘नेताजी (मुलायम सिंह यादव) तो मैनपुरी से लड़ेंगे। हमारी पार्टी तय करेगी कि किसको कहां से लड़ना है। कन्नौज लोहिया जी का है, मेरी इच्छा होगी कि मैं भी वहीं से लड़ूं।’’

Author लखनऊ | January 22, 2018 16:04 pm
अखिलेश की पत्नी डिम्पल यादव इस वक्त कन्नौज से सांसद हैं। (File Photo)

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को अगला लोकसभा चुनाव अपनी पत्नी की सीट कन्नौज से लड़ने के संकेत दिए। अखिलेश ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान अगले लोकसभा चुनाव लड़ने के संबंध में एक सवाल पर कहा, ‘‘नेताजी (सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव) तो मैनपुरी से लड़ेंगे। हमारी पार्टी तय करेगी कि किसको कहां से लड़ना है। कन्नौज लोहिया जी का है, मेरी इच्छा होगी कि मैं भी वहीं से लड़ूं।’’ अखिलेश की पत्नी डिम्पल यादव इस वक्त कन्नौज से सांसद हैं। पूर्व मुख्यमंत्री की यह टिप्पणी पिछले साल सितम्बर में छत्तीसगढ़ के रायपुर में दिए गए बयान के लिहाज से खासी महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

मालूम हो कि अखिलेश ने पिछले साल 24 सितम्बर को रायपुर में संवाददाताओं से बातचीत में राजनीतिक दलों में परिवारवाद के बारे में पूछे जाने पर कहा था, ‘‘अगर हमारा परिवारवाद है तो हम तय करते हैं कि अगले चुनाव में हमारी पत्नी चुनाव नहीं लड़ेंगी। भाजपा का भी परिवारवाद होगा। उसके परिवारवाद की भी बात करनी चाहिए।’’ डिम्पल ने वर्ष 2009 में फिरोजाबाद लोकसभा उपचुनाव में पहली बार अपनी किस्मत आजमाई थी लेकिन उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था।

वर्ष 2012 में अखिलेश ने प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद कन्नौज से सांसद पद से इस्तीफा दिया था। उसके बाद हुए उपचुनाव में डिम्पल पहली बार निर्विरोध निर्वाचित हुई थीं। साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में डिम्पल एक बार फिर इस सीट से जीती थीं। डिम्पल ने पिछले विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिए जमकर प्रचार किया था। वहीं दूसरी तरफ, सपा में हाशिए पर पहुंचे वरिष्ठ नेता एवं विधायक शिवपाल यादव ने नई पार्टी बनाने की अटकलों के बीच कहा कि वह अब भी सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के साथ हैं और उनकी प्रार्थना है कि परिवार फिर से एकजुट हो।

शिवपाल ने अपने जन्मदिन के मौके पर संवाददाताओं से बातचीत में नई पार्टी बनाने की सम्भावनाओं के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘हम नेताजी (मुलायम) के साथ हैं। नेताजी का जो आदेश होगा, हम उसका पालन करेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज भी हमारी सब लोगों से यही प्रार्थना है कि परिवार एक हो जाए। एक होकर ही हम साम्प्रदायिक शक्तियों और भ्रष्टाचार से लड़ सकते हैं।’’ शिवपाल ने कहा कि प्रदेश में इस वक्त बड़ी चुनौतियां हैं। पूरे प्रदेश की जनता परेशान है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App