ताज़ा खबर
 

तो क्या राजनीति में उतरेंगी ऐशवर्या राय? पोस्टर से मिल रहे संकेत

पार्टी के पोस्टर्स में भले ही तेज प्रताप यादव की तस्वीर है, लेकिन स्थापना दिवस के लिए छपे आमंत्रण कार्ड्स में से तेज का नाम गायब है। इस वजह से एक नया विवाद जन्म लेता दिखाई दे रहा है।

तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय (फोटो सोर्स- वीडियो स्क्रीनशॉट)

लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) अपना 21वां स्थापना दिवस मना रही है। इस मौके पर पूरे पटना में आरजेडी के पोस्टर लगाए गए हैं, इन पोस्टरों में पहली बार लालू की बहू और तेज प्रताप यादव की पत्नी ऐश्वर्या राय की तस्वीर नजर आ रही है। ऐश्वर्या की तस्वीर को राबड़ी देवी और मीसा भारती की फोटो के बीच में जगह दी गई है। पूरे पटना में लगे इन पोस्टर्स ने नया राजनीतिक मुद्दा छेड़ दिया है। हर जगह राजनीति में ऐश्वर्या राय की एंट्री को लेकर कयास लगाए जाने लगे हैं। इन पोस्टरों से यह संकेत मिल रहे हैं कि यादव परिवार की नई नवेली बहू जल्द ही राजनीति से जुड़ सकती हैं। हालांकि इस पर लालू या उनके परिवार के किसी सदस्य की तरफ से किसी भी तरह का कोई ऐलान नहीं किया गया है। वहीं तेज प्रताप यादव ने अक्सर ही यह बात कही है कि ऐश्वर्या राजनीति से नहीं जुड़ेंगी।

गौरतलब है कि ऐश्वर्या खुद राजनीतिक परिवार से संबंध रखती हैं। वह वरिष्ठ आरजेडी नेता चंद्रीका राय की बेटी हैं तो बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दरोगा प्रसाद राय की पोती हैं। भले ही ऐश्वर्या ने सीधे तौर पर कभी राजनीति नहीं की है, लेकिन उनका बिहार की राजनीति से गहरा संबंध रहा है। बता दें कि इन पोस्टर्स में जहां एक तरफ राबड़ी, मीसा और ऐश्वर्या की तस्वीर लगाई गई है तो दूसरी तरफ तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव और लालू की तस्वीरें भी लगाई गई हैं। पोस्टर में तेजस्वी को बिहार का मुख्यमंत्री बनाने की बात कही गई है। इसमें लिखा है, ‘लालू जी के संदेशों को घर-घर पहुंचाना है, तेजस्वी जी को मुख्यमंत्री बनाना है।’

पार्टी के पोस्टर्स में भले ही तेज प्रताप यादव की तस्वीर है, लेकिन स्थापना दिवस के लिए छपे आमंत्रण कार्ड्स में से तेज का नाम गायब है। इस वजह से एक नया विवाद जन्म लेता दिखाई दे रहा है। इस बीच हालांकि तेजप्रताप ने अपने परिवार के पक्ष में उतर आए हैं। बुधवार को संवाददाताओं द्वारा नाम गायब रहने के विषय में पूछे जाने पर तेजप्रताप ने कहा कि नाम किसी कारणवश छूट गया होगा। उन्होंने कहा, “निमंत्रण पत्र में मेरा नाम रहे या न रहे क्या फर्क पड़ता है। पार्टी हमारी है और पार्टी में हमारे लोग हैं। मुझे किनारे करने का कोई सवाल ही नहीं उठता।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App