ताज़ा खबर
 

Air Strike पर बोले राजनाथ- धरती, पाताल और आसमान भी हमें नहीं रोक सकते, हम जानते हैं कितने मजबूत हैं PM मोदी

राजनाथ ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा, 'हम जानते हैं कि हमारा प्रधानमंत्री कितना मजबूत है, आतंकियों के खिलाफ लड़ाई अभी लड़नी होगी। इतना ही नहीं आतंकियों और आतंक के खिलाफ कार्रवाई करने पर कोई नहीं रोक सकता।'

home minister rajnath singhगृह मंत्री राजनाथ सिंह फोटो सोर्सः ANI

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सेना की कार्रवाई पर बड़ा बयान देते हुए कहा, ‘पाकिस्तान के कुछ दरिंदे हमारी सीमा में घुस आए और हमारे जवानों को मार डाला। उसके बाद आपने देखा कि हम लोगों ने पाकिस्तान के घर में घुस कर उसका मुंह तोड़ जवाब दिया। आतंकियों के ठिकाने पर कार्रवाई करने से हमें ना धरती रोक सकती है, ना आसमान और ना पाताल।’ राजनाथ ने यह बयान उत्तर प्रदेश के उन्नाव में ग्रामीणों से संवाद के दौरान दिया। वे ‘भारत के मन की बात’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

विपक्ष पर यूं कसा तंजः गृह मंत्री ने कहा, ‘जवान तो जवान होता है चाहे CRPF का हो या फिर सेना का। पुलवामा में हमले के बाद हमने सोचा इस बार कुछ आर-पार हो जाए। हमारी सेना ने पाकिस्तान की धरती पर उनके सबसे बड़े आतंकी ठिकाने को नेस्तनाबूद कर दिया। हमारे इस हमले के बाद पाकिस्तान परेशान हो उसके अंदर दहशत हो ये बात तो समझ में आती है लेकिन हमें ये समझ में नहीं आता कि हमारे यहां की कुछ पार्टियां क्यों दहशत में आ गईं। उन्होंने कहा कि आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी।

मुस्लिम पुलिस वाले भी लड़ रहे आतंकियों से’: राजनाथ ने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा, ‘हम जानते हैं कि हमारा प्रधानमंत्री कितना मजबूत है, आतंकियों के खिलाफ लड़ाई अभी लड़नी होगी। इतना ही नहीं आतंकियों और आतंक के खिलाफ कार्रवाई करने पर कोई नहीं रोक सकता। मैं आप लोगों को एक बात बताना चाहता हूं कि हिन्दू और मुस्लिम में कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए। जम्मू-कश्मीर में मुस्लिम पुलिस वाले आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं।’

Next Stories
1 कमलनाथ ने किया बैंड ट्रेनिंग स्कूल का ऐलान तो शिवराज बोले- ‘समय काटू’ मिशन चला रही सरकार
2 CISF जवानों ने पानी की बौछार से बनाया तिरंगा, खूबसूरत नजारा देख यूं खुश हुए पीएम मोदी, देखें वीडियो
3 Madhya Pradesh: लोकसभा चुनाव से पहले ओबीसी को बड़ा तोहफा, 27 फीसदी आरक्षण को गवर्नर की मंजूरी
ये पढ़ा क्या?
X