ताज़ा खबर
 

जम्‍मू में सुरक्षा ठिकानों पर हवाई हमलों की चेतावनी, दो महीने के लिए पेराग्‍लाइडिंग व पेराशूट पर बैन

जम्‍मू कश्‍मीर सरकार ने जम्‍मू रक्षा/सुरक्षा केंद्रों के एक किलोमीटर के दायरे में हवाई क्षेत्र से जुड़ी सभी निजी गतिविधियों पर रोक लगा दी है।
Author जम्‍मू | June 13, 2016 19:11 pm
जम्‍मू कश्‍मीर सरकार ने जम्‍मू रक्षा/सुरक्षा केंद्रों के एक किलोमीटर के दायरे में हवाई क्षेत्र से जुड़ी सभी निजी गतिविधियों पर रोक लगा दी है। यह फैसला सुरक्षा अड्डों पर हमलों की आशंका जताए जाने के अलर्ट के बाद लिया गया।

जम्‍मू कश्‍मीर सरकार ने जम्‍मू रक्षा/सुरक्षा केंद्रों के एक किलोमीटर के दायरे में हवाई क्षेत्र से जुड़ी सभी निजी गतिविधियों पर रोक लगा दी है। यह फैसला सुरक्षा अड्डों पर हमलों की आशंका जताए जाने के अलर्ट के बाद लिया गया। इस फैसले के तहत पेराग्‍लाइडिंग, पेराशूट और एयर बैलून उड़ाने पर रोक लग गई है। यह प्रतिबंध धारा 144 के तहत लगाया गया है। सोमवार से यह प्रतिबंध लग गया है और दो महीने तक लागू रहेगा। वायुसेना मुख्‍यालय की ओर से भेजे अलर्ट का हवाला देते हुए आदेश में लिखा है, ”एरियल एडवेंचर स्‍पोर्टस के तहत पेराग्‍लाइडिंग, पेराशूट जैसे गतिविधियों पर रोक लगाई जाती है। यह कदम आतंकियों द्वारा इन गतिविधियों के जरिए वायुसेना/रक्षा/पुलिस थानों पर भविष्‍य में हमला करने की आशंका के चलते उठाया गया है।”

कश्मीर: अनंतनाग हमले का वीडियो आया सामने, सड़क पर हथियार लिए घूम रहे हैं आतंकी

आदेश के अनुसार रक्षा और सुरक्षा ठिकानों के एक किलोमीटर के दायरे में पेरा जंपिंग, पेराग्‍लाइडिंग और एयर बैलून पर रोक रहेगी। साथ ही किसी अन्‍य क्षेत्र में ऐसा करने के लिए भी पहले से मंजूरी लेनी होगी। इस तरह का व्‍यवसाय शुरू करने की इच्‍छुक कंपनी या व्‍यक्ति को भी पहले जिला कलेक्‍टर से अनुमति लेनी होगी। जिला कलेक्‍टर ने बताया कि 60 दिन के बाद भी इस प्रतिबंध को आगे बढ़ाया जा सकता है। हालांकि उन्‍होंने कहा कि अमरनाथ यात्रा का इस आदेश से कोई लेना देना नहीं है। वायुसेना मुख्‍यालय से मिले इनपुट के आधार पर यह आदेश जारी किया गया है। उन्‍होंने बताया कि पठानकोट हमले के चलते यह फैसला लिया गया है।

J&K: उधमपुर में CRPF कैम्प पर आतंकवादी हमला, जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी ढेर

बता दें कि इसी तरह का प्रतिबंध इसी साल अप्रैल में मुंबई में भी लगाया गया था। खुफिया रिपोर्ट में चेताया गया था कि आतंकी हवाई गतिविधियों के जरिए हमला कर सकते हैं। साथ ही बताया गया था कि लश्‍कर ए तैयबा ने एक यूरोपीय देश से 50 पेराग्‍लाइडर्स खरीदें हैं।अमरनाथ यात्रा के चलते जम्‍मू कश्‍मीर में वैसे ही सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। गृह मंत्रालय ने वहां पर अर्धसैनिक बलों की 125 कंपनियां तैनात की है। साथ ही नेशनल डिजास्‍टर रिलीफ की 15 टीमें भी भेजी गई हैं। वैष्‍णो देवी मंदिर के पास दो संदिग्‍धों के सेना की यूनिफार्म में देखे जाने के बाद पुलिस ने शनिवार को हाई अलर्ट जारी किया था। जम्‍मू कश्‍मीर हाइवे पर डोमेल के पास झाडि़यों के पास से सेना की यूनिफॉर्म और जुराब की जोड़ी बरामद की गई थी।

जम्‍मू कश्‍मीर सरकार से आजिज आए पूर्व आतंकी लिया‍कत शाह ने कहा- फिर पाकिस्‍तान जाना चाहता हूं

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.