ताज़ा खबर
 

हेल्मेट पहनना अनिवार्य करने पर भड़के विधायक, विधानसभा में हेल्मेट तोड़कर किया प्रदर्शन

किरण बेदी के द्वारा हेलमेट पहनना अनिवार्य करने को लेकर एआईएडीएमके के विधायकों ने विधानसभा प्रांगण में हेल्मेट तोड़कर इस नियम का विरोध किया। एआईएडीएमके विधायक ए अंबालगन ने अपने साथी विधायकों के साथ प्रदर्शन किया।

विधानसभा प्रांगण में हेल्मेट तोड़ते AIADMK विधायक(फोटो सोर्स-ट्विटर/ किरण बेदी)

किरण बेदी के द्वारा हेलमेट पहनना अनिवार्य करने को लेकर एआईएडीएमके के विधायकों ने विधानसभा प्रांगण में हेल्मेट तोड़कर इस नियम का विरोध किया। एआईएडीएमके विधायक ए अंबालगन  ने अपने साथी विधायक ए भास्कर और वय्यापूरी मनीकंदन के साथ मिलकर हेल्मेट तोड़कर नियम के खिलाफ प्रदर्शन किया। विधानसभा में एआईएडीएमके के विधायकों की संख्या चार है। और इन तीनों के अलावा चौथे विधायक केएयू असाना विरोध प्रदर्शन में नहीं पहुंच पाए।

प्रदर्शन कर रहे विधायकों का कहना है कि बिना प्रचार प्रसार के यह कानून लागू करना जबरदस्ती है। किरण बेदी की कार्यशैली पर भी सवाल उठाते हुए विधायकों ने कहा कि किरण बेदी का इस तरह से काम करना और नियम बनाना मनमाना है।

बीते रविवार को किरण बेदी ने मद्रास हाई कोर्ट से मोबाइल मजिस्ट्रेट ट्रैफिक कोर्ट बनाने की गुहार लगाई थी। सड़क पर सुरक्षा के मद्दनेजर पूर्व महिला आईपीएस किरण बेदी ने लोगों को हेल्मेट पहनने की सलाह दी और सड़क सुरक्षा नियमों के उल्लंघन करने वालों को फटकार भी लगाई थी।इसके बाद सोमवार को डीजीपी सुंदरी नंदा ने कहा कि हेल्मेट पहनने का अनिवार्य नियम 11 फरवरी से लागू हो जाएगा।

वहीं, किरण बेदी ने कहा कि समय भी है और मौका भी है। हेल्मेट पहनने के कानी को अपनाकर हम सड़क पर होने वाली अप्रिय घटनाओं पर लगाम लगा सकते हैं। अपवाद की परिस्थितियों को छोड़ अन्य किसी भी तरह से हेल्मेट पहनने को लेकर कोई भी ढील नहीं दी जानी चाहिए।

प्रेस वार्ता के दौरान मुख्यमंत्री वी नारायणस्वमी ने कहा कि हेल्मेट पहनने की आवश्कता को लेकर लोगों को जागरूक करने को लेकर एक महीने भर का कार्यक्रम चलाया जाना चाहिए। सुप्रीम द्वारा हेल्मेट पहनने की अनिवार्यता के आदेश का पूरी तरह से पालन किया जाना चाहिए।

बता दें कि उपराज्यपाल किरण बेदी और एआईएडीएमके के विधायक ए अंबालगन के बीच इससे पहले भी टकराव  सामने आया  था। एक कार्यक्रम के दौरान दोनों के बीच मंच पर ही तीखी बहस हो गई थी। दोनों एक दूसरे को प्लीज गो कहते नजर आए थे। इसके अलावा किरण बेदी को मुख्मंत्री वी नारायणस्वामी  द्वारा लिखे गए पत्र को किरण बेदी अशिष्ट बता चुकी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App