ताज़ा खबर
 

गुजरात: भरभराकर गिरी Sabarmati Riverfront की दीवार, 2 दिहाड़ी मजदूरों की कुचलकर मौत; 217 रुपए प्रतिदिन थी आमदनी

मौके पर मौजूद एक अन्य मजदूर नीलाम्बेन ने बताया, “दीवार ढह जाने के बाद आगे बढ़ने के लिए कोई जगह नहीं थी। दीताबेन का शव एक मशीन की मदद से बाहर निकाला गया था "

अहमदाबादशनिवार को साबरमती रिवरफ्रंट पर ढही दीवार के पास मौजूद पुलिस (फोटो सोर्स – जावेद राजा)

गुजरात के अहमदाबाद में शनिवार दोपहर एनआईडी परिसर के पास साबरमती रिवरफ्रंट के पश्चिमी तट पर एक निर्माणाधीन दीवार गिरने से दो व्यक्तियों की मौत हो गई और दो घायल हो गए। दोनों की पहचान मध्य प्रदेश के दीताबेन मंगुभाई (25) और सुमंतबेन भुनसिंह (54) के रूप में हुई। घटना के समय पीड़ित रिवरफ्रंट में एक निर्माणाधीन स्पोर्ट्स सेंटर के पास काम कर रहे थे। पुलिस ने दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दी। हादसे में घायल दो अन्य मजदूरों को एसवीपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इस महीने की मजदूरी भी नहीं मिली थी : मौके पर मौजूद एक अन्य मजदूर नीलाम्बेन ने बताया, “दीवार ढह जाने के बाद आगे बढ़ने के लिए कोई जगह नहीं थी। दीताबेन का शव एक मशीन की मदद से बाहर निकाला गया था ” साबरमती रिवरफ्रंट में रोजाना 100 से अधिक मजदूर काम करते हैं। नीलांबेन ने कहा, “हमें प्रति दिन 217 रुपये मिलते हैं। इस महीने हमें अभी तक मजदूरी नहीं मिली है, जबकि मजदूरी मिलने की तारीख दस दिन पहले ही बीत चुकी है।”

National Hindi News 22 December 2019 Live Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

कई अन्य श्रमिक भी काम कर रहे थे : ‘बी’ डिवीजन पुलिस स्टेशन के एसीपी एलबी ज़ाला ने कहा, “पानी की नहर का काम चल रहा था… उस क्षेत्र को खोदा गया था और चार श्रमिक वहां काम कर रहे थे। अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। हम आकस्मिक मौत या अप्राकृतिक मौत की रिपोर्ट दर्ज करेंगे।”

ढांचे में खामी की जताई गई आशंका : अहमदाबाद फायर एंड इमरजेंसी सर्विसेज (AFES) में अतिरिक्त मुख्य अग्निशमन अधिकारी राजेश भट्ट ने कहा कि बचाव कार्यों के लिए आठ से 10 कर्मियों की एक टीम भेजी गई थी। “प्रथम दृष्टया यह एक ढांचागत खामी लग रही है, क्योंकि दीवार मुश्किल से दो से ढाई फीट ऊंची थी और खुदाई का क्षेत्र भी इतनी ही गहराई का था। ऐसे हालात में दीवार को ढहना नहीं चाहिए था, जब तक कि उसमें कुछ ढांचागत खामी न हो।” डिप्टी म्यूनिसिपल कमिश्नर नितिन सांगवान ने कहा कि अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन इस मामले को देख रहा है और रविवार तक इसका ब्योरा मिल जाएगा।

Next Stories
1 नए साल से पहले उद्धव सरकार से किसानों को बड़ी राहत, CM ने विधानसभा में किया दो लाख तक कर्जमाफी का ऐलान
2 UP Police Constable Recruitment: डॉक्युमेंट वेरीफिकेशन और फिजीकल टेस्ट की तिथियां बदलीं
ये पढ़ा क्या?
X