Ahmedabad: Bajrang Dal puts up posters warning about Valentine Day and Love Jihad - अहमदाबाद: वैलेंटाइन वीक में बजरंग दल ने लगवाए पोस्टर, लड़कियों को 'लव जिहाद' से किया आगाह - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अहमदाबाद: वैलेंटाइन वीक में बजरंग दल ने लगवाए पोस्टर, लड़कियों को ‘लव जिहाद’ से किया आगाह

वैलेंटाइन वीक चल रहा है। वैलेंटाइन डे को कुछ ही दिन बचे हैं, इसी बीच गुजरात के अहमदाबाद में ऐसे पोस्टर देखे गए हैं, जिनमें युवाओं से वैलेंटाइन डे का विरोध करने की बात कही गई है। वैलेंटाइन डे का विरोध करने वाले ज्यादातर पोस्टर शहर के कॉलेज के बाहर लगाए गए हैं।

बजरंग दल के कार्यकर्ताओं की फाइल फोटो

वैलेंटाइन वीक चल रहा है। वैलेंटाइन डे को कुछ ही दिन बचे हैं, इसी बीच गुजरात के अहमदाबाद में ऐसे पोस्टर देखे गए हैं, जिनमें युवाओं से वैलेंटाइन डे का विरोध करने की बात कही गई है। वैलेंटाइन डे का विरोध करने वाले ज्यादातर पोस्टर शहर के कॉलेज के बाहर लगाए गए हैं। इनमें लव-जिहाद का भी स्टीकर लगाया गया है, जिसमें एक महिला का आधा चेहरा बुर्का पहने हुए दिखाया गया है। बजरंग दल ने इन पोस्टरों को लगाने की जिम्मेदारी ली है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बजरंग दल ने कहा है कि इन पोस्टरों के माध्यम से युवाओं को दो संदेश एक साथ देने की कोशिश की गई है। पहला- युवा लव-जिहाद को खतरों से रूबरू रहें और दूसरा यह कि वैलेंटाइन डे का जश्न भारतीय संस्कृति के खिलाफ हैं। बजरंद दल के अहमदाबाद के अध्यक्ष ज्वलित मेहता ने मीडिया से कहा- ”मुझे यह बात साफ करने दें कि हम प्यार के खिलाफ नहीं हैं। हम वैलेंटाइन डे के मौके पर इसकी आड़ में प्यार के नाम पर किए जाने वाले अश्लील प्रदर्शन के खिलाफ हैं।

मेहता ने सवाल खड़ा करते हुए कहा- ”क्या आपने वे कार्ड देखे हैं जो वैलेंटाइन डे पर दिए जाते हैं? उनमें कपल्स किस करते हुए दिखते हैं। क्या यह हमारी संस्कृति हैं? क्या हम इसी तरह प्यार का जश्न मनाते हैं?” मेहता ने आगे कहा- ”हम पश्चिमी सभ्यता की उन बातों के खिलाफ नहीं है जो हमारी मददगार हैं। क्रिकेट हमारा खेल है जिसे अंग्रेज लाए, लेकिन हमें उसके साथ कोई दिक्कत नहीं हैं। लेकिन वैलेंटाइन डे का प्यार से कुछ भी लेना देना नहीं है, बल्कि यह भावनाओं का अश्लील प्रदर्शन करता है।”

बजरंद दल ने कॉलेजों में छात्रों को लव-जिहाद और वैलेंटाइन डे को लेकर जागरूक करने के लिए सेमीनार करने की भी बात कही। मेहता ने कहा- ”हमारे सदस्य कॉलेज जाते हैं और छात्रों से समूह में चर्चा करते हैं। शुरू में करीब 80 फीसदी छात्रों ने हमारे विचारों से समर्थन जताया है।” हालांकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि जरूरी नहीं कि सभी छात्र वैलेंटाइन डे का विरोध करने वाली बात उनकी बात मानेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App