ताज़ा खबर
 

अयोध्या मंच से राम सेतु को नेशनल हेरिटेज मॉन्यूमेंट घोषित करें मोदी, सालों से पड़ी है PM की टेबल पर फाइल- बोले BJP सांसद

सुब्रमण्यम स्वामी ने इससे पहले नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि राम मंदिर निर्माण में प्रधानमंत्री का तो कोई योगदान नहीं है।

pm narendra modiवरिष्ठ भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी।

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन से ठीक पहले वरिष्ठ भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से खास अपील की है। उन्होंने बुधवार (5 अगस्त, 2020) को ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी को आज अयोध्या मंच से घोषणा करनी चाहिए कि राम सेतु नेशनल हेरिटेज मॉन्यूमेंट है। ट्वीट में उन्होंने आगे कहा कि ये प्राचीन स्मारक और पुरातात्विक स्थल और अवशेष अधिनियम यानी AMASR एक्ट की सभी शर्तों को पूरा करता है। उन्होंने कहा कि साल 2015 में मेरे WP पर जारी नोटिस के अनुसार सुप्रीम कोर्ट को सूचित करें। भाजपा सांसद ने आगे कहा कि संस्कृति मंत्रालय की फाइल पीएम की टेबल पर पड़ी हुई है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने इससे पहले नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि राम मंदिर निर्माण में प्रधानमंत्री का तो कोई योगदान नहीं है। पांच साल से राम सेतु की फाइन उनकी टेबल पर पड़ी हुई है। दरअसल एक टीवी साक्षात्कार में राज्यसभा सांसद से सवाल पूछा गया था कि राम मंदिर भूमि पूजन के लिए किन्हें बुलाया जाना चाहिए। इसके जवाब में उन्होंने तपाक से कहा कि मंदिर निर्माण में प्रधानमंत्री का कोई योगदान नहीं है। सारी बहसें हमने कीं। उन्होंने कहा, ‘जहां तक मैं जानता हूं कि सरकार की तरफ से उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया, जिसके बारे से हम कह सकें कि उसकी वजह से निर्णय मंदिर पक्ष में आया है।’

Coronavirus India LIVE Updates

उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने इसके लिए काम किया उनमें राजीव गांधी, पीवी नरसिम्हा राव और अशोक सिंहल शामिल हैं। पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने भी इसमें अड़ंगा अड़ाया था। अशोक सिंहल ने खुद मुझे ये बात बताई थी।

इधर भाजपा सांसद के ट्वीट सोशल मीडिया यूजर्स भी जमकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं। प्रदीप कुमार @Pardeep19661 लिखते हैं, ‘आज के दिन पांच अगस्त को अगर राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मनाने की मांग भारत सरकार से की जाए तो कैसा रहेगा।’ धरमा @Dharma2X लिखते हैं, ‘राम सेतु को हिंदू विरोधी ताकतों से बचाने के लिए राष्ट्रीय धरोहर घोषित करें।’

इसी तरह अथर्व @unbelievablyIDK लिखते हैं, ‘राम जन्मभूमि के लिए प्रयास करने के लिए आपको बधाई। हमें साल 2024 से पहले अपने फ्री टेंपल आंदोलन को पूरा करना होगा।’ ब्रजेश @Brajesh_S_Singh लिखते हैं, ‘अयोध्या राम मंदिर आखिरी जीत नहीं है। ये तो सिर्फ शुरुआत है। हमें वो सब दोबारा हासिल करना होगा जो खोया था।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नहीं रहे महाराष्ट्र के पूर्व CM शिवाजीराव पाटिल निलंगेकर, कोरोना के बाद अस्पताल में थे भर्ती
2 ओडिशाः पुरानी रंजिश में शख्स को पीटा, मुंडन के बाद जूते की माला पहना घुमाया, फिर पेशाब पीने को किया मजबूर
3 कोरोना और राम मंदिर भूमि पूजन: आप सांसद संजय सिंह ने कहा- शर्म करो भाजपाईयों, हुए ट्रोल
IPL 2020 LIVE
X