ताज़ा खबर
 

विधायकों की CM योगी से शिकायत पर हुआ SP सिटी का हुआ ट्रांसफर! दरगाह के पास नहीं लगने दी थी शाखा

मामला बढ़ता देख क्षेत्र के 2 विधायकों योगेन्द्र उपाध्याय (आगरा दक्षिण) और उदयभान सिंह (फतेहपुर सीकरी) ने 21 जून को सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और पुलिस अधिकारियों पर कारवाई की मांग की।

आरएसएस शाखा के विवाद में यूपी सरकार ने किया पुलिस अधिकारियों का तबादला। (image source-Financial express)

शनिवार शाम को आगरा के एसपी सिटी अनुपम सिंह का तबादला कर दिया गया है। माना जा रहा है कि एसपी सिटी का तबादला आरएसएस की शाखा को सूफी संत की मजार के पास से शिफ्ट करने के कारण किया गया है, जिस पर पिछले कुछ दिनों से बवाल चल रहा था। एसपी सिटी के तबादले के साथ ही इस मामले में एक एसआई को सस्पेंड भी कर दिया गया है।

क्या है मामलाः आगरा की ताजगंज इलाके में पावन धाम कालोनी में एक सूफी संत नईम शाह की मजार है। बताया जा रहा है कि पिछले काफी समय से इस मजार से 25 मीटर की दूरी पर शाखा का आयोजन होता था। जिसके बाद मजार के कुछ प्रतिनिधियों ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से 18 जून को मुलाकात की। पुलिस सूत्रों के अनुसार, मजार के प्रतिनिधियों का कहना है कि शाखा में एक विशेष समुदाय के लोग आपत्तिजनक कमेंट करते हैं, जिस कारण वह असुरक्षित महसूस करते हैं। उसी दिन पुलिस ने आरएसएस कार्यकर्ताओं को उस स्थान पर शाखा ना लगाने के निर्देश दे दिए। इस दौरान एक दरोगा ने आरएसएस कार्यकर्ताओं को धमकाया भी, जिसका नतीजा ये हुआ कि आरएसएस कार्यकर्ता ताजगंज पुलिस स्टेशन के नजदीक ही धरने पर बैठ गए।

विधायकों के सीएम योगी से मुलाकात के 2 दिन बाद ही हुआ ट्रांसफरः मामला बढ़ता देख क्षेत्र के 2 विधायकों योगेन्द्र उपाध्याय (आगरा दक्षिण) और उदयभान सिंह (फतेहपुर सीकरी) ने 21 जून को सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और पुलिस अधिकारियों पर कारवाई की मांग की। इसके एक दिन बाद ही आरएसएस कार्यकर्ताओं के साथ अभद्रता करने वाले दरोगा को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं शनिवार शाम को एसपी सिटी अनुपम सिंह का भी तबादला कर दिया गया है। अनुपम सिंह को फिलहाल लखनऊ में एंटी टेररिस्ट स्कवॉड (एटीएस) में भेजा गया है, वहीं आगरा एसपी सिटी के पद पर लखीमपुर खीरी के एसपी सिटी प्रशांत वर्मा को आगरा भेजा गया है। अनुपम वर्मा के साथ ही 2 अन्य अधिकारियों को भी इधर से उधर किया गया है। वहीं सरकार का कहना है कि यह एक रुटीन तबादला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App