ताज़ा खबर
 

अररिया: ‘पाकिस्‍तान जिंदाबाद’ और ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ के नारे, केंद्रीय मंत्री ने रीट्वीट किया वीडियो

अररिया उपचुनाव में राजद प्रत्याशी सरफराज आलम के जीतने के बाद पार्टी समर्थक बेकाबू हो गए और भारत विरोधी नारे लगाने लगे। इस वीडियो को सबसे पहले भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने ट्वीट किया था।

बीजेपी के नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह

अररिया लोकसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रत्याशी सरफराज आलम ने जीत हासिल की। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी प्रदीप सिंह को हरा दिया। राजद प्रत्याशी की जीत की घोषणा के बाद उनके समर्थक बेकाबू हो गए। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ऐसे ही बेकाबू राजद कार्यकर्ताओं का एक वीडियो रीट्वीट किया है, जिसमें कुछ युवक ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ और ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ जैसे नारे लगा रहे हैँ। उन्हें अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए भी देखा जा सकता है। दरअसल, भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष संतोष रंजन राय ने पहले इस वीडियो को ट्विटर पर पोस्ट किया था, जिसे बाद में गिरिराज सिंह ने रीट्वीट किया। संतोष ने लिखा, ‘हार-जीत लोकतंत्र का हिस्सा है। अररिया में हिंदू बिखरे और भाजपा हार गई। लेकिन, भाजपा के हारने के बाद मुस्लिम समुदाय ने जिस तरह पाकिस्तान जिंदाबाद और हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए, इससे प्रतीत होता है कि हिंदुस्तान हर दिन खोखला होता जा रहा है।’

इससे पहले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अररिया से सरफराज की जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि यह क्षेत्र आतंकवादियों का अड्डा बन जाएगा। ऐसे में यह बिहार ही नहीं देश के लिए भी खतरा है। उन्होंने क्षेत्र की सीमा नेपाल और बंगाल से जुड़े होने और यहां कट्टरपंथी विचारधार का जन्म होने का भी हवाला दिया था। बता दें कि अररिया में मुस्लिमों की अच्छी-खासी आबादी है।

राजद नेता तस्लीमुद्दीन के निधन के बाद यह सीट खाली हुई थी। पार्टी ने उनके बेटे सरफराज को अपना उम्मीदवार बनाने की घोषणा की थी। उन्होंने भाजपा के प्रदीप सिंह को 60 हजार से भी ज्यादा वोटों से हरा दिया। बिहार और उत्तर प्रदेश के उपचुनावों में भाजपा को मिली हार पर गिरिराज सिंह ने कहा कि कार्यकर्ताओं को साथ लेकर चलने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘भाजपा को किसी से चुनौती नहीं है…चाहे अखिलेश यादव हों या मायावती या आरजेडी। हमें अपने आप से चुनौती है। कहीं न कहीं हमलोग जनता की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। अब उसे देखना है कि कहां खरे नहीं उतरे और जब हम इसे देखेंगे तो अपनी चुनौतियों का सामना भी कर लेंगे और आगे बढ़ेंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App