ताज़ा खबर
 

दिल्ली: आंधी-तूफान की चेतावनी, आज बंद रहेंगे शाम की पाली के स्कूल, मेट्रो पर भी पड़ सकता है असर

मौसम विभाग की ओर से कई प्रदेशों में भारी बारिश और आंधी-तूफान आने की चेतावनी जारी करने के बाद सोमवार दिल्ली यातायात पुलिस ने लोगों से इस दौरान एहतियात बरतने को कहा है।

(Representative Image:PTI)

आंधी तूफान और भारी बारिश की मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने शाम की पाली में लगने वाले सभी स्कूलों को मंगलवार को बंद करने का फैसला किया है। दूसरी पाली में चलने वाले सभी केंद्रीय विद्यालय भी आज बंद रहेंगे। इसके साथ ही सभी जिलों में तलाशी और बचाव दलों को भी मुस्तैद कर दिया गया है। सरकार की ओर से संभावित स्थिति से निपटने के लिए आम जनता के लिए जरूरी परामर्श भी जारी किया है। दिल्ली सरकार ने सोमवार शाम कहा कि दूसरी पाली (शाम की पाली) में चलने वाले सभी स्कूल मंगलवार को बंद रहेंगे। इस संबंध में फैसला मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की अध्यक्षता में चेतावनी के बाद तैयारियों की समीक्षा करने के लिए हुई बैठक में लिया गया। बैठक में दमकल, राजस्व, यातायात, गृह और लोक निर्माण विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे। मौसम विभाग ने रविवार को दिल्ली समेत उत्तर-पश्चिमी भारत के कई इलाकों में आंधी, तूफान और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की थी, जिसका प्रभाव 8 मई को सबसे ज्यादा रहने का पूर्वानुमान जताया गया था।

दिल्ली सरकार की ओर से आम जनता के लिए ऐसी संभावित स्थिति में क्या करना चाहिए और क्या करने से बचना चाहिए, यह परामर्श भी जारी किया है। सरकार की ओर से परामर्श की पूरी सूची दी गई है जिसमें आंधी-तूफान के पहले, दौरान और उसके बाद क्या किया जाना चाहिए, यह बताया गया है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार के राजस्व विभाग ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं और जल व विद्युत विभाग से भी कहा है कि वह अपनी टीमों को तैनात रखें। विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक जिले और उप जिलों में तलाशी और राहत टीमों को मुस्तैद रखा गया है। मौसम विभाग के मुताबिक 7 और 8 मई को जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कुछ जगहों पर आंधी-तूफान के साथ ओलावृष्टि और बारिश हो सकती है। कुछ जगहों पर हवा की रफ्तार 50 से 70 किमी प्रति घंटे के बीच हो सकती है। पिछले हफ्ते दो मई को धूल भरी आंधी, तूफान, बारिश और बिजली गिरने से पांच राज्यों में कम से कम 124 लोगों की मौत हो गई थी।

सावधानी से ट्रेनें चलाएगा दिल्ली मेट्रो

मौसम विभाग की ओर से जारी आंधी-तूफान की चेतावनी के मद्देनजर दिल्ली मेट्रो ने ट्रेनों की आवाजाही में सावधानी बरतने का फैसला किया है। मौसम विभाग ने दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे पश्चिमोत्तर भारत में मंगलवार को भारी बारिश और आंधी-तूफान आने की चेतावनी जारी की थी। इसके मद्देनजर दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने कहा है कि मौसम के रुख को देखते हुए ट्रेनों के परिचालन में काफी एहतियात बरता जाएगा। अगर आंधी बहुत तेज (90 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार) हुई तो ट्रेनों को उस दौरान प्लेटफार्म पर ही रोक दिया जाएगा। इससे कम रफ्तार की आंधी आई तो ट्रेनों को धीमी गति से चलाया जाएगा।
डीएमआरसी ने मौसम की चेतावनी के मद्देनजर स्टेशन परिचालन व नियंत्रण कक्ष को जरूरी निर्देश जारी किए हैं। डीएमआरसी के एक वरिष्ठ प्रवक्ता ने बताया कि हवा की रफ्तार अगर 70 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे की होती है तो ट्रेनों की आवाजाही सामान्य रहेगी, लेकिन एलिवेटेड सेक्शन (उपरिगामी खंड) के प्लेटफार्म पर ट्रेनें धीमी रफ्तार (40 किलोमीटर प्रति घंटे या उससे कम) में प्रवेश करेंगी। वहीं अगर हवा की रफ्तार 90 किलोमीटर प्रति घंटे या उससे ज्यादा हुई तो ट्रेनों को प्लेटफार्म पर ही रोक दिया जाएगा और कोई भी ट्रेन 15 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा की रफ्तार से प्लेटफॉर्म में प्रवेश नहीं करेगी। उन्होंने यह भी कहा कि हवा की गति 85 किलोमीटर प्रति घंटे से कम होने पर ट्रेनों की आवाजाही सामान्य कर दी जाएगी। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली,जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश,पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सोमवार और मंगलवार को आंधी-तूफान आने का अनुमान है।

मौसम को देखकर यातायात पुलिस ने भी जारी किया अलर्ट

मौसम विभाग की ओर से कई प्रदेशों में भारी बारिश और आंधी-तूफान आने की चेतावनी जारी करने के बाद सोमवार दिल्ली यातायात पुलिस ने लोगों से इस दौरान एहतियात बरतने को कहा है। पुलिस ने रोजाना सफर करने वाले लोगों को परामर्श देते हुए कहा है कि वे सड़क पर वाहन से चलते समय मौमस के मिजाज का ध्यान रखें। दिल्ली यातायात पुलिस के संयुक्त आयुक्त ने सड़कों पर तैनात बलों को सजग रहने और यह सुनिश्चित करने को कहा है कि जहां भी गिरे पेड़ रुकावट बने उन्हें तुरंत हटाया जाए। परामर्श में नियमित सफर करने वाले मुसाफिरों को आंधी के दौरान सफर नहीं करने की सलाह दी गई है। आंधी और बारिश होने की स्थिति में जो लोग अपने वाहन सड़क पर रोक देते हैं। ऐसे चालकों को सलाह दी गई है कि वह टिन शेड वाली छतों, पेड़ों या फिर बिजली की तारों के नीचे नहीं खड़े हों। इसके साथ ही कहा गया है कि मुसाफिर कंक्रीट ढांचों के नीचे ही पनाह लें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App