scorecardresearch

पंजाब में हार के बाद करप्शन के मुद्दे पर पार्टी के भीतर घिरे चन्नी, विपक्षी दलों से भी ज्यादा आक्रामक दिखे सुनील जाखड़, बोले- R U Joking?  

पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने पूर्व मुख्यमंत्री चन्नी पर एक बार फिर निशाना साधा है। हार के बाद चन्नी लगातार सुनील जाखड़ और सिद्धू के निशाने पर हैं।

पंजाब में हार के बाद करप्शन के मुद्दे पर पार्टी के भीतर घिरे चन्नी, विपक्षी दलों से भी ज्यादा आक्रामक दिखे सुनील जाखड़, बोले- R U Joking?  
कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ (ANI photo)

पंजाब विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी की अंतर्कलह खुलकर बाहर आ रही है। पंजाब कांग्रेस के बड़े नेता सुनील जाखड़ ने पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी पर बड़ा हमला बोला है। सुनील जाखड़ ने ट्वीट के माध्यम से चन्नी पर निशाना साधा है। दरअसल सुनील जाखड़ ने एक ट्वीट करते हुए एक रिपोर्ट को शेयर किया, जिसमे लिखा हुआ था कि पंजाब में हार पर पार्टी नेताओं ने CWC की बैठक में कहा कि पार्टी के ही कुछ बड़े नेताओं ने चन्नी को नीचा दिखाया, जिन्हें राहुल गांधी ने पंजाब और भारत के लिए एक संपत्ति के रूप में तैयार किया था।

सुनील जाखड़ ने चन्नी पर निशाना साधते हुए और रिपोर्ट को शेयर करते हुए लिखा कि , “एक संपत्ति – क्या आप मजाक कर रहे हैं? भगवान का शुक्र है कि उन्हें सीडब्ल्यूसी में ‘पीबीआई’ महिला द्वारा ‘राष्ट्रीय खजाना’ घोषित नहीं किया गया, जिन्होंने उन्हें सबसे पहले सीएम के रूप में प्रस्तावित किया था। उनके लिए एक संपत्ति हो सकतें हैं लेकिन पार्टी के लिए वह केवल बोझ रहे हैं। शीर्ष नेतृत्व ने नहीं बल्कि उनकी अपनी लालच ने उन्हें और पार्टी को नीचे खींच लिया।”

सुनील जाखड़ ने इसके साथ ही एक और रिपोर्ट शेयर की जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री चन्नी के भतीजे से ED द्वारा 10 करोड़ की संपत्ति जब्त करने का जिक्र था। बता दें कि इसी वर्ष जनवरी महीने में ED ने पूर्व सीएम चन्नी के भतीजे के घर छापा मारा था और इस दौरान ED ने घर से 6 करोड़ की नकदी बरामद की थी।

पंजाब में जब कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाया गया था, उस दौरान अम्बिका सोनी ने चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाने की वकालत सबसे पहले की थी। माना जाता है कि सुनील जाखड़ का नाम भी मुख्यमंत्री पद की रेस में था, लेकिन कुछ नेता उनके नाम पर राजी नहीं हुएं जिसका मलाल जाखड़ को अभी तक है।

रविवार को ही सुनील जाखड़ ने बयान दिया था कि चन्नी की जगह यदि पार्टी सिद्धू को आगे लाती तो परिणाम कुछ और हो सकतें थे। जाखड़ का मानना है कि सिद्धू बदलाव की आंधी को रोक सकते थें, क्योंकि उनके ऊपर भ्रष्टाचार के मामले नहीं हैं।

पढें चंडीगढ़ (Chandigarh News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 14-03-2022 at 02:55:30 pm