ताज़ा खबर
 

टाइगर जिंदा है के बाद शिवराज का एक और बयान, कहा- ऊंची छलांग से पहले दो कदम पीछे हटना पड़ता है

शिवराज का ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसकी वजह है कि उन्होंने अपने इस भाषण में शाहरुख की फिल्म 'मैं हूं ना' और सलमान की फिल्म 'टाइगर जिंदा है' के डायलॉग इस्तेमाल किया है।

Author December 20, 2018 8:43 PM
शिवराज सिंह चौहान, फोटो सोर्स- जनसत्ता ऑनलाइन

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने  जनता से मुलाकात की। इस दौरान शिवराज ने उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मैं हूं न शिवराज सिंह चौहान… टाइगर अभी जिंदा है। दरअसल शिवराज का ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसकी वजह है कि उन्होंने अपने इस भाषण में शाहरुख की फिल्म ‘मैं हूं ना’ और सलमान की फिल्म ‘टाइगर जिंदा है’ के डायलॉग इस्तेमाल किया है। अभी ये वीडियो वायरल होना थमा भी नहीं था कि शिवराज का एक ट्वीट वायरल होने लगा है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में भाजपा को हार मिली है जिसके बाद प्रदेश के नए मुखिया कमलनाथ बने हैं।

क्या बोले शिवराज
दरअसल शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को सीएम हाउस में बुदनी के निवासियों से मुलाकात की और उनका आभार व्यक्त करते हुए कहा- कोई इस बात की चिंता मत करना कि हमारा क्या होगा, मैं हूं न शिवराज सिंह चौहान… टाइगर अभी जिंदा है। इसके बाद उन्होंने कहा कि ये इस डोम का आखिरी कार्यक्रम है। इतने में लोगों ने कहा कि पांच साल बाद फिर आप यहां होंगे। इतने में शिवराज ने कहा कि हो सकता है कि पांच साल भी पूरे न लगे। इसके बाद शिवराज ने पुरानी यादें ताजा करते हुए कहा कि इस डोम के नीचे कई पंचायते और धार्मिक आयोजन हुए हैं।

गुरुवार को किया ट्वीट
बुधवार को दिए बयान के बाद शिवराज ने गुरुवार सुबह एक ट्वीट भी किया। अपने ट्वीट में शिवराज ने कहा कि हर लंबी दौड़ या फिर ऊंची छलांग से पहले दो कदम पीछे हटना पड़ता है। शिवराज के इस ट्वीट के कई सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। वहीं राजनीतिक जानकार इसे लोकसभा चुनाव की तैयारियों से भी जोड़कर देख रहे हैं।

हार की समीक्षा
विधानसभा चुनाव में मिली हार की समीक्षा और लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर भाजपा के तमाम वरिषअट नेताओं की बैठक बुधवार को रात 10 बजे पार्टी दफ्तर में हुई। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत के साथ अन्य नेता भी मौजूद रहे। बैठक में पदाधिकारियों से मिले फीडबैक पर बात होने के साथ ही उन वजहों पर भी बात की गई जिनकी वजह से पार्टी को विधानसभा चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा। बता दें कि एक दिन पहले ही मंगवार को पार्टी प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक हुई थी, जिसमें कई पदाधिकारियों ने हार के कारण बताए थे।

शिव’राज’ का रिकॉर्ड
2003 में सीएम बनीं उमा भारती के इस्तीफे के बाद सूबे के वरिष्ठ नेता बाबूलाल ने 23 अगस्त 2004 को सीएम पद की शपथ ली थी। बाबूलाल गौर के 29 नवंबर 2005 को पद छोड़ने पर शिवराज ने प्रदेश की बागडोर संभाली और 20018-2013 के विधानसभा चुनाव भी जिताने में सफल रहे। बता दें कि पिछले 13 वर्षों में राज्य में सबसे लंब वक्त तक सीएम रहने का रिकॉर्ड शिवराज के नाम दर्ज है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App