ताज़ा खबर
 

साउथ इंडियन फिल्मों से आया फर्जी आईपीएस बनने का आइडिया, पुलिस ने किया गिरफ्तार

पंजाब के लुधियाना में एक शख्स को फर्जी आईपीएस अधिकारी बनने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि साउथ इंडियन फिल्में देखकर उसे फर्जी आईपीएस अधिकारी बनने का ख्याल आया।
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी रुपिंदर सिंह। (फोटो सोर्स – एएनआई)

पंजाब के लुधियाना में एक शख्स को फर्जी आईपीएस अधिकारी बनने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आरोपी ने पुलिस को बताया कि साउथ इंडियन फिल्में देखकर उसे फर्जी आईपीएस अधिकारी बनने का ख्याल आया। हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक आरोपी रुपिंदर सिंह बीकॉम ग्रेजुएट है, वह अपने आप को उत्तर प्रदेश कैडर का बताता था। हैरानी बात यह है कि आरोपी लुधियाना के सरदार नगर में फर्जी आईपीएस अधिकारी बनकर पुलिस की विशेष सुरक्षा लेने अपने जानने वालों के लिए असलहों के लाइसेंस बनवाने में सफल रहा और वह पारिवारिक मसलों का भी निपटारा करवाता था। रुपिंदर सिंह को सलेम तबरी पुलिस ने मंगलवार (13 फरवरी) को गिरफ्तार किया और उसके पास से पुलिस की एक वर्दी, मेटल स्टार्स, आईपीएस बैज, नेम प्लेट, 32 बोर की रिवॉल्वर, दो लाठियां और एक बीकन बरामद हुआ। आरोपी ने पुलिस के बताया कि साउथ इंडियन फिल्में देखकर उसने एक फर्जी वर्दी और बाकी की चीजें खरीदी थीं।

आरोपी पुलिस अधिकारियों के पास जाता था और पुलिस थानों का दौरा करता था, वह पुलिसवालों पर अपने आदेश का पालन करने का दवाब डालता था। वह रिश्तेदारों के विवादों के निपटारे करने और उनके लिए लाइसेंस बनाने का दवाब डालता था। उसने रविंदर कौर नाम की एक महिला को भी धोखाधड़ी का शिकार बनाया। उसने विदेश यात्रा कराने के नाम पर महिला से 4 लाख रुपये ऐंठे। स्पेशल ब्रांच के पुलिस के अतिरिक्त उप आयुक्त सुरेंद्र लांबा ने कहा कि आरोपी जुझर ट्रांसपोर्ट में बतौर इमीग्रेशन कंसल्टेंट काम करता था।

कुछ दिनों पहले जब वह एक एसयूवी कार से पहुंचा और खुद को उत्तर प्रदेश का आईपीएस अधिकारी बताया तो सलेम तबरी पुलिस और मेहरबान पुलिस ने उसे सुरक्षा मुहैया कराई। उसने अधिकारियों को बताया था कि वह शहर में अपने परिवार से मिलने आया है और उसे सुरक्षा की जरूरत है। शुक्रवार को रुपिंदर पुलिस कमिश्नर के ऑफिस में गया था, वहां एक अधिकारी को उसकी वर्दी देखकर शक हुआ और उसने अपने सीनियर को सूचना दी। खुद खतरे में देख रुपिंदर सिंह मौके से फरार हो गया। पुलिस पिछले कुछ दिनों से आरोपी की धरपकड़ करने की कोशिश कर रही थी और जब जालंधर बाईपास से वह भागने की कोशिश कर रहा था तो पुलिस ने उसे दबोच लिया। आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 170, 171 और 420 में मुकदमा दर्ज किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.